प्लास्टिक के बोतल की जगह अव पेपर बैग में मिलेगा पानी, हैदराबाद स्थित एक स्टार्ट-अप ने पर्यावरण की रक्षा के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। पानी की प्लास्टिक की बोतलों की जगह इस स्टार्ट-अप ने इको फ्रंडली ‘वाटर बॉक्स’ तैयार किए हैं। आईटी विशेषज्ञ सुनीथ तातिनेनी और चैतन्य अयिनपुडी ने दुनिया भर में बढ़ रहे प्लास्टिक के कचरे को कम करने के लिए एक नए स्टार्ट-अप ‘कैरो वाटर’ की शुरुआत की है। इस नए स्टार्टअप को शुरू करने के लिए दोनों ने अपनी कॉर्पोरेट सेक्टर की नौकरी छोड़ दी है।

प्लास्टिक के बोतल की जगह अव पेपर बैग में मिलेगा पानी

प्लास्टिक के बोतल की जगह अव पेपर बैग में मिलेगा पानी

स्टार्ट-अप कैरो वाटर के सह-संस्थापक सुनीत तातिनेनी ने बताया कि एक व्यक्ति जो लंबी यात्रा कर रहा है, वह कम से कम एक लीटर पानी की पांच बोतलें खरीदेगा। इन प्लास्टिक की बोतलों में से 10 प्रतिशत से भी कम की रिसाइक्लिंग हो पा रही है। यह एक बेहद गंभीर मुद्दा है। उन्होंने कहा, ‘इस मुद्दे का समाधान खोजने के लिए हमने कार्डबोर्ड बॉक्स का उपयोग करके पानी पैक करना शुरू कर दिया है, जिसमें भरपूर पानी रिसाइकिल करने योग्य ‘बैग-इन-बॉक्स’ बैग में भर दिया जाता है।’

चैतन्य अयिनपुडी ने कहा

कैरो वाटर के सह-संस्थापक, चैतन्य अयिनपुडी ने कहा, ‘पर्यावरण के अनुकूल बक्से में पीने का पानी भरने का विचार अपने आप में अनूठा और देश में अपनी तरह का पहला है। कंपनी की स्थापना के बाद से पिछली दो तिमाहियों में, हमने 20-लीटर पानी के लगभग 8000 बक्से बेच हैं।’

इसे भी पढ़ें: Instagram पर फोटो शेयरिंग ऐप बंद, इंस्टाग्राम के हेड एडम माॅसेरी ने वीडियो शेयर कर दी जानकारी

चैतन्य ने उल्लेख किया कि जमीनी स्तर पर बदलाव लाने के लिए उन्होंने अस्पतालों, होटलों और छोटे स्तर की पार्टियों पर अधिक ध्यान केंद्रित किया है, जहां प्लास्टिक कचरे का ढेर लगा रहता है।  हैदराबाद और उसके आसपास के कुछ होटलों और अस्पतालों ने प्लास्टिक की पानी की बोतलों को इन इको-फ्रेंडली बोतलों को अपने यहां मंगाना शुरू कर दिया।

पानी के डब्बे की कीमत

हये पानी के डिब्बे 5 लीटर और 20 लीटर के दो बॉक्स में उपलब्ध है। जिसकी कीमत क्रमश: 75 रुपये और 120 रुपये है। चैतन्य ने बताया कि’ जमीनी स्तर पर बदलाव लाने के लिए उन्होंने अस्पतालों, होटलों और छोटी-छोटी पार्टियों पर अधिक ध्यान केंद्रित किया है जहां प्लास्टिक कचरा हमेशा ढेर होता है। वहीं हैदराबाद और उसके आसपास के कुछ होटलों और अस्पतालों ने प्लास्टिक की पानी की बोतलों को इन इको-फ्रेंडली बोतल से बदलना शुरू कर दिया है।’ उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि ऐसा बदलाव हर जगह आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.