योगी आदित्यनाथ का महाराष्ट्र दौरा: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे आमने-सामने है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ महाराष्ट्र के दौरे में है, जहां उन्होंने फिल्म सिटी के बड़े-बड़े हस्तियों के साथ बैठक किया। सीएम दोयोगी का मुंबई दौरा इसलिए है कि वह नोएडा में फिल्म सिटी बनाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। योगी के इस कवायद से सीएम उद्धव ठाकरे बिलकुल खिलाफ है। योगी आदित्यनाथ का निवेश आमंत्रित करने के लिए मुंबई आना महाराष्ट्र आधाड़ी नेताओं को अच्छा नहीं लग रहा है। उनका कहना है कि कोई भी चिल्ला कर या जबरदस्ती यहां से बिजनेस नहीं ले जा सकता है।

सीएम उद्धव ठाकरे ने इंडियन मरचेंट्स चैंबर को संबोधित करते हुए कहा

कल मंगलवार को मुंबई में हुई उद्यमियों एवं कारोबारियों की अग्रणी संस्था इंडियन मर्चेंट चेंबर को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि किसी की तरक्की से हमें कोई ईर्ष्या नहीं है। यदि कोई प्रतियोगिता करके प्रगति करे तो कोई परेशानी नहीं हो लेकिन अगर कोई जोर जबरदस्ती कर कुछ पाना चाहता है तो हम उसे ऐसा करने नहीं देंगे। 2018 में महाराष्ट्र सरकार द्वारा निवेशकों के सम्मेलन मैग्नेटिक महाराष्ट्र का उल्लेख करते हुए कहा कि कुछ लोग आपसे मिलने आ रहे हैं आपको निवेश वो अपने प्रदेश मे करने के लिए प्रेरित करेंगे। उन्हें पता ही नहीं है कि महाराष्ट्र एक शक्तिशाली राज्य जहां लोग खींचे चले आते है। किसी को दम है तो यहां से उद्योग को बाहर ले जाकर देखें।

संजय राउत का बयान

शिवसेना नेता संजय राउत ने बयान में कहा कि योगी जी मुंबई मे किसी 5 स्टार होटल में अक्षय कुमार के साथ बैठे नजर आए हैं। शायद अक्षय जी आम की टोकरिया लेकर गए होंगे। मुंबई की फिल्म सिटी को अगर कोई ले जाने की सोच रहा है तो पहले योगी जी यह बताएं कि नोएडा में फिल्म सिटी का अभी क्या हालत है।

ग्रेटर नोएडा में फिल्म सिटी के निर्माण को लेकर चर्चा

आपको पता है कि सीएम योगी आदित्यनाथ दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में फिल्म सिटी के निर्माण के लिए जगह  भी आवंटित कर चुके हैं। यमुना अथॉरिटी एरिया के सेक्टर 21 में 1 हजार एकड़ में फिल्म सिटी बनाई जाएगी। इसका ऐलान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कर चुके हैं। सीएम के ऐलान के बाद से ही इस पर काम चालू है। इसके लिए डीपीआर तैयार करने वाले एजेंसी की तलाश की जा रही है। इसमें 25 नवंबर को निविदा खोली जानी थी।

बताया जा रहा है कि 15 दिसंबर तक एजेंसी का चयन हो जाएगा, वही 3 महीने के अंदर डीपीआर देगी। ऐसा बताया जा रहा है कि अगले साल मार्च तक फिल्म सिटी की रूपरेखा तैयार हो जाएगी। अब फिल्म सिटी निर्माण करने के लिए बारीकियों से जानने के लिए वह मुंबई पहुंचे हैं। सूत्रों से पता चला है वो फिल्म हस्तियों के साथ मिलकर यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि फिल्म सिटी बनाने के लिए कौन सी विशेष बातों का ध्यान में रखना चाहिए। उनका मुंबई आने का सबसे बड़ा मकसद यही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.