CBSE 10th Result 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) अब 10वीं कक्षा का रिजल्ट 20 जून को जारी नहीं करेगा। बदले शेड्यूल के तहत अब नतीजे जुलाई के पहले सप्ताह में ही जारी हो सकेंगे। सीबीएसई ने मंगलवार को नोटिस जारी कर 10वीं के छात्रों के मार्क्स सब्मिट करने की अंतिम तिथि बढ़ा दी है। सीबीएसई ने कहा है कि विभिन्न राज्यों में कोविड-19 महामारी, लाॅकडाउन, स्कूलों के शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों की सुरक्षा को देखते हुए तारीखें आगे बढ़ाने का फैसला लिया गया है।

CBSE 10th Result 2021

CBSE 10th Result 2021 बोर्ड के ऑफिशियल वेबसाइट पर नोटिस जारी

इस संबंध में बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in पर नोटिस भी जारी किया गया है। सीबीएसई ने 10वीं बोर्ड एग्जाम रिजल्ट 2021 तैयार करने के लिए नया शेड्यूल जारी किया है। इसके अनुसार पहले की तय तारीख 20 मई 2021 को ही मार्क्स अपलोड करने के लिए सीबीएसई का पोर्टल एक्टिव कर दिया जाएगा। लेकिन मार्क्स सबमिशन की डेडलाइन अब 30 जून 2021 तक कर दी गई है, जो पहले 05 जून थी।

CBSE 10th Result 2021

अब स्कूल्स को अपने स्टूडेंट्स के मार्क्स सीबीएसई के पोर्टल पर अपलोड करने के लिए 25 दिन का अतिरिक्त समय मिल गया है। इस अनुसार अब रिजल्ट में भी देर होगी। संभावना है कि सीबीएसई क्लास 10 रिजल्ट 2021 की घोषणा जुलाई के दूसरे सप्ताह तक करेगा।

CBSC 10वीं असेसमेंट फॉर्मूला

  •  छात्रों को इंटरनल असेसमेंट के तौर पर प्रत्येक सब्जेक्ट के कुल 100 अंकों में से अधिकतम 20 अंक दिए जाएंगे।
  • प्रत्येक विषय में 100 में 80 अंक मिड टर्म, प्री बोर्ड और यूनिट टेस्ट आदि परीक्षाओं के आधार दिए जाएंगे। यूनिट टेस्ट के लिए 10 अंक, मिड टर्म के लिए 30 अंक और प्री बोर्ड परीक्षा के लिए 40 अंक निर्धारित किए गए हैं।
  • जो छात्र इस रिजल्ट से संतुष्ट नहीं होंगे उन्हें स्थिति सामान्य होने के बाद एक बार परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा।
  • स्कूल में रिजल्ट तैयार करने के लिए स्कूल प्रिंसिपल और 7 शिक्षकों की एक रिजल्ट समिति बनेगी। इसमें दो शिक्षक दूसरे स्कूल से होंगे।
  • रिजल्ट समिति में शामिल होने वाले दूसरे स्कूल के शिक्षकों को 2500-2500 रुपए और अपने स्कूल के शिक्षकों को 1500-1500 रुपए सीबीएसई बोर्ड की ओर से दिए जाएंगे।

गौरतलब है कि दिल्ली शिक्षा निदेशालय ने रिजल्ट तैयार करने के लिए डेडलाइन बढ़ाने की मांग की थी। शिक्षा विभाग का कहना था कि दिल्ली सरकारी स्कूल्स के अधिकांश टीचर्स या तो कोविड ड्यूटी में लगे हैं या कोरोना संक्रमित हैं। ऐसे में 05 जून तक मार्क्स अपलोड कर पाना संभव नहीं है।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किया बड़ा ऐलान, कोरोना से जान गंवाने वाले परिवार को मिलेगा 50-50 हजार रुपये की मदद

इसके बाद सीबीएसई ने यह निर्णय लिया है। बोर्ड ने कहा है कि शिक्षकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य हमारी प्राथमिकता है। इसे ध्यान में रखते हुए रिजल्ट तैयार करने और मार्क्स अपलोड करने की समय सीमा बढ़ाई जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.