Delhi Airport 2021: एयरपोर्ट्स इकोनामिक रेगुलेटरी अथॉरिटी (AERA) ने दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (DIAL) कि 1 फरवरी 2021 से 31 मार्च 2022 तक के आउट बाउंड यात्रियों पर 65.98 रुपए अधिक और उस पर लगने वाले टैक्स के साथ वसूलने की अनुमति दी है। कोरोना वायरस महामारी से विमान सेक्टर बहुत बुरी तरह प्रभावित हुआ है। अब इस महीने से दिल्ली एयरपोर्ट से उड़ान भरना महंगा होने वाला है।

Delhi Airport 2021

यह लेवी फ्यूल थ्रूपुट चार्ज के बदले में है जो 15 जनवरी 2020 तक एयरलाइंस पर लगाया गया था फ्यूल थ्रूपुट शुल्क हवाई अंडे के डेवलपर को इंदन आपूर्तिकर्ताओं द्वारा किया गया भुगतान है।

Delhi Airport 2021 में कितना वसूला जाएगा चार्ज

संकट के उभरने के लिए एयरपोर्ट इकोनॉमिक्स रेगुलेटरी अथॉरिटी (AERA) ने इसकी मंजूरी दे दी है। 1 फरवरी से लेकर 31 मार्च तक दिल्ली से बाहर उड़ान भरने वाले यात्रियों को नई व्यवस्था के तहत 65.98 रुपए देने के साथ सारे टैक्स चुकाने होंगे। इसके बाद अप्रैल 2021 से इस चार्ज से में कटौती की जाएगी। वित्त वर्ष 2021-22 के लिए चार्ज 52.56 रुपए तय किया गया है। वहीं वित्त वर्ष 2023-24 के लिए यात्रियों से 51.97 रुपए वसूला जाएगा। जानकारी के मुताबिक एयरपोर्ट अथॉरिटी ने अभी दिल्ली एयरपोर्ट की उस मांग को नहीं माना है। जिसमें कहा गया था कि दिल्ली से बाहर जाने वाले घरेलू उड़ान के लिए 200 रुपए और विदेशी उड़ान पर 300 रुपए का टैक्स लगाया जाना चाहिए। https://www.fastkhabre.com/archives/2727

दिल्ली एयरपोर्ट को घाटा

बता देगी कि DIAL ने अपील की थी कि वो एयरपोर्ट्स  इकोनॉमिक्स रेगुलेटरी को निर्देश दे कि एयरपोर्ट टैरिफ को तय करते समय कोरोना की वजह से उसके रेवेन्यू में आई गिरावट के प्रभाव को ध्यान में रखा जाए। अगर ऐसा नहीं किया गया तो पैसे की किल्लत होगी। दिल्ली एयरपोर्ट चाहता है कि इस चार्ज को 2024 तक लागू किया जाए। दिल्ली एयरपोर्ट का अनुमान है कि अप्रैल 2020 से लेकर मार्च 2024 तक उसकी कमाई में करीब 3538 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। इस का कहना है कि 2024 से तक ऑपरेशन को चलाने के लिए वित्तीय मदद की जरूरी जरूरत होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *