Digital currency पिछले कुछ सालों में क्रिप्टोकरेंसी का बाजार बहुत तेजी से बढ़ा है। सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमत में जिस तरह उछाल आ रहा है यह निदेशकों को बेहद आकर्षित कर रहा है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पेमेंट सिस्टम को लेकर जो बुकलेट जारी किया है, जिसमें साफ-साफ लिखा गया है कि RBI डिजिटल करेंसी लाने पर विचार कर रहा है। वो रुपए का डीजल वर्जन लाने पर विचार कर रहा है।

Digital currency

बिटकॉइन कि इस वक्त बात करें तो इस वक्त इसका रेट लगभग 25 लाख रुपए है। इसको लेकर कोई रेगुलेशन नहीं है, और ना ही इसे कोई सेंट्रल बैंक जारी करता है। लेकिन इसकी धीरे-धीरे स्वीकृता बढ़ती जा रही है।

इसे भी पढ़ें: Driving licence online Apply: ऑनलाइन घर बैठे ड्राइविंग लाइसेंस अप्लाई करें मात्र 350 रुपए में

पिछले कुछ सालो मे वैश्विक स्तर पर डिजिटल करेंसी का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। यह एक प्राइवेट करेंसी की तरह है। इसमें निवेशक काफी दिलचस्पी दिखा रहे हैं। इस बढ़ती दिलचस्पी को देख दुनिया भर के सेंट्रल बैंक CBDC की दिशा में तेजी बढ़ रही है। अगर सरकार की तरफ से रेग्युलेटेड करेंसी नहीं लाया गया तो ये डिजिटल करेंसी मार्केट पर प्राइवेट प्लेयर का दबदबा बढ़ जाएगा।

बिटकॉइन क्या है

Digital currency

Bitcoin एक आभासी मुद्रा है यानी वर्चुअल करेंसी। इसका इस्तेमाल आप ऑनलाइन खरीदारी और लेन-देन के लिए कर सकते हैं। इसे माइनिंग द्वारा कमाया जाता है। इसे स्टोर करने के लिए बिटकॉइन वॉलेट (Bitcoin wallet) की आवश्यकता होती है। इसको जापान के सातोशी नाकामोतो (Satoshi Nakamoto) नाम के एक इंजीनियर ने बनाया है। इसकी शुरुआत 2009 में हुई थी। आज 1 बिटकॉइन लगभग 427 अमेरिकी डॉलर यानी 28000 के बराबर है। 2014 में 1 बिटकॉइन की कीमत 1000 अमेरिकी डॉलर से भी ऊपर चली गई थी। इसके भुगतान के लिए क्रिप्टोग्राफी का इस्तेमाल किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: RBI की नई घोषणा, अब 100,10, और 5 के पुराने नोट मार्च के बाद हो जाएंगे बंद

Digital Currency का स्वरूप

हमारे सामने डिजिटल करेंसी रेड क्वाइन, सिया कॉइन,  एसवाईएस क्वाइन, वॉइस कॉइन, मोनेरो, बिटकॉइन के रूप में उपलब्ध है। इस तरह की करेंसी पर किसी एक राष्ट्र का अधिकार नहीं होता है।

Digital Currency के लाभ

  • इस डिजिटल करेंसी से आप घर बैठे वस्तु को खरीद या बेच सकते हैं।
  • यह करेंसी आपको एक वॉलेट में उपलब्ध रहती है।
  • डिजिटल करेंसी में निवेश करने के बाद आप अपनी संपत्ति में इजाफा कर सकते हैं।
  • इसके मूल्य में परिवर्तन होता रहता है।

इसे भी पढ़ें: डिजिटल पेमेंट का चलन बढ़ा, RBI के आंकड़ों द्वारा चेक भुगतान घटकर 2.96% हो गया

इसका इस्तेमाल

  • डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल आप ऑनलाइन वस्तुओं को खरीद और सेवाओं को ग्रहण करने के लिए किया जाता है।
  • इसको लेकर चलने की आवश्यकता नहीं है आप किसी भी स्थान पर वस्तु को खरीद सकते हैं।
  • वहीं आरबीआई डिजिटल करेंसी को जल्द से जल्द देश में लाने के लिए काम कर रहा है।
  • RBI यह पता लगाने की कोशिश कर रहा है कि रुपए की डिजिटल एडिशन से क्या फायदा और यह कितना उपयोगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.