Health Insurance: आज के मौजूदा वक्त में आप सभी इस चीज से सहमत होंगे कि आधुनिक जीवन शैली में लोगों पर तनाव और दबाव दोनों तेजी से बढ़ता जा रहा है। जिसका सीधा असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। इसलिए यह जरूरी है कि समय पर एक अच्छी हेल्थ पॉलिसी खरीदी जाए। मौजूदा समय में स्वस्थ खर्च काफी बढ़ गया है। नई बीमारियां और उनका महंगा इलाज किसी को भी आर्थिक संकट की ओर ले जा सकता है। ऐसे महंगे खर्च से बचने के लिए स्वास्थ्य बीमा की जरूरत है। आमतौर पर वेतन भोगी कर्मचारी को ऑफिस की ओर से मेडिक्लेेम प्राप्त होते हैं। लेकिन रिटायरमेंट के बाद स्वास्थ्य बीमा जरूर करवा लेना चाहिए, सिर्फ Health insurance खरीदना ही सब कुछ नहीं होता है इसे लेने के लिए पॉलिसी के बारे में पूरी तरह जानकारी रखना भी अहम है।

Health policy लेने पर क्या-क्या होंगे कवर

Health Insurance

हर बीमा कंपनी के अपने-अपने नियम होते हैं जिस पर उसी के हिसाब से पॉलिसी दी जाती है। हेल्थ पॉलिसी खरीदने से पहले यह समझ लेना जरूरी है कि उसमें कितना और क्या आर्थिक कवर मिलेगा। जिस पॉलिसी में ज्यादा से ज्यादा चीजें जैसे टेस्ट का खर्च एंबुलेंस और अन्य खर्च शामिल हो ताकि आपको जेब से कोई पैसा ना लगाना पड़े।https://www.fastkhabre.com/senior-citizen/

Health Insurance में वेटिंग पीरियड से जुड़ी जानकारी

हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने के बाद ऐसा कोई जरूरी नहीं कि हर बीमा के लिए आपको पहले दिन से ही उसकी कवरेज मिलने लगे। ऐसे में आपको क्लेम करने के लिए एक खास समय के लिए वेटिंग पीरियड से का इंतजार करना होता है। अलग-अलग पॉलिसी और बीमारियों के अलग-अलग वेटिंग पीरियड होते हैं। उदाहरण के लिए आपने आज कोई मेडिकल पॉलिसी ली है तो हो सकता है आपको पहले दिन से कोविड-19 का कवर ना मिले लेकिन आपको एक्सीडेंट के लिए यह कवर पहले दिन से ही मिल सकता है। इसे ही वेटिंग पीरियड कहते हैं।

Health Insurance के लिए ना ले लिमिट वाला प्लान

अस्पताल में प्राइवेट रूम में किराया जैसी लिमिट से बचे आपके लिए यह जरूरी नहीं कि इलाज के दौरान आपको किसी कमरे में रखा जाए। खर्च करने के लिए कंपनी द्वारा लिमिट या सब लिमिट तय करना आपके लिए ठीक नहीं है। पॉलिसी लेते समय इस बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

गंभीर बीमारी पर कंपनी की पॉलिसी

कई बीमा कंपनी की गंभीर बीमारी को लेकर क्लेम राशि अपेक्षाकृत कम होती है। ऐसे में ग्राहकों को बीमा लेने से पहले इसकी भी जानकारी लेनी चाहिए कि गंभीर बीमारी की कवर लिस्ट सहित सभी दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ लेना चाहिए ताकि बाद में क्लेम खारिज होने की स्थिति ना हो।

Health Insurance में अस्पताल का नेटवर्क

हेल्थ इंश्योरेंस में इन्वेस्ट करने से पहले यह जान ले कि आप योजना के तहत आने वाले किस नेटवर्क अस्पतालों पर विचार किया है। नेटवर्क अस्पताल का एक समूह होता है, जो आपको अपनी वर्तमान हेल्थ प्लान को इस्तेमाल करने की अनुमति देता है। आपको उसी प्लान को लेना चाहिए जो आपके क्षेत्र में अधिकतम नेटवर्क अस्पताल देता है।

ग्रेस पीरियड

अगर आपकी हेल्थ पॉलिसी 4 अक्टूबर को एक्सपायर हो रही है और आप उस पॉलिसी को समय पर रेन्यू नहीं करा सके तो आपको एक ग्रेस पीरियड दिया जाता है। जिस अवधि के दौरान भुगतान करने पर आपको पॉलिसी में पूर्व से चल रहे लाभ मिलते रहते हैं। इनमें वेटिंग पीरियड और प्री एक्जिस्टिंग डिजीज से जुड़े लाभ शामिल होते हैं। हालांकि भुगतान के प्लान के मुताबिक ग्रेस पीरियड भी अलग अलग होता है।

ऑटोमेटिक रिचार्ज

पॉलिसी खरीदते वक्त आपको यह जरूर जानना है कि जिस में इनबिल्ट रीस्टोर ऑप्शन हो और एक ही वर्ष में 1 से अधिक हॉस्पिटलाइजेशन होने पर आप की बीमा राशि दो ऑटोमेटिक रिचार्ज किया जा सके। खासतौर पर फैमिली फ्लोटर प्लान के मामले में यह एक महत्वपूर्ण प्लान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.