JEE Main 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने बुधवार को जेईई मेन परीक्षा का पूरा शेड्यूल जारी कर दीया है। शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार शाम ये घोषणा करते हुए कहा कि JEE Main 2021 परीक्षा अगले साल होगी। परीक्षा चार बार होगी। मंत्रालय द्वारा परीक्षा आयोजित करने के लिए प्राप्त सुझाव की समीक्षा करने के बाद यह निर्णय लिया गया है।  परीक्षा 2021 के फरवरी,मार्च, अप्रैल और मई में 4 सत्र मे आयोजित किए जाएंगे। पहला परीक्षा सत्र 23 फरवरी से 26 फरवरी 2021 के बीच होगा। शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने पहले ही अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर इसकी घोषणा की जानकारी दे दी थी।

JEE Main 2021

15 दिसंबर को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने Jeemain.nta.nic.in http://Jeemain.nta.nic.inपर एक अधिसूचना जारी कर जेईई मेन 2021 की तारीख को और अन्य सूचनाओं के बीच एक नया परीक्षा पैटर्न का उल्लेख किया था, फिर बाद में उसे कुछ घंटों के अंदर ही वापस ले लिया गया। जिसमें बताया गया कि अभी जेईई मेन 2021 के डेट्स को अंतिम रूप नहीं दिया गया है।

JEE Main 2021 के लिए शिक्षा मंत्री ने बताया

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने बताया कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने तय किया है कि परीक्षा को 90 प्रश्न पूछे जाएंगे, जिसमें उम्मीदवारों को 75 प्रश्न को ही हल करना होगा शेष 15 वैकल्पिक प्रश्न मे नेगेटिव मार्किंग भी नहीं किया जाएगा। पहले फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ से 25- 25- 25 प्रश्न आते थे, एनटीए ने विभिन्न बोर्ड के सिलेबस को जेईई मेन पेपर में एक स्तर पर लाने के लिए सेक्शन में चॉइस देने का फैसला लिया है। इस बार क्वेश्चन पेपर में चॉइस मिलेगा। प्रत्येक विषय से 30 प्रश्न आएंगे जो सेक्शन में बंटे होंग।https://www.fastkhabre.com/archives/2391

JEE Main 2021

शिक्षा मंत्री ने बताया कि नई शिक्षा नीति के मद्देनजर जेईई मेन 2021 परीक्षा 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी। कंप्यूटर आधारित टेस्ट मोड में आयोजित होने वाली परीक्षा B.Arch के लिए ऑफलाइन मोड में होगी।

NTA की अधिसूचना जारी

अपने आधिकारिक वेबसाइट ने NTA ने जो अधिसूचना जारी की है उसके अनुसार JEE Main अगले शैक्षणिक सत्र में प्रवेश लेने के लिए कई अवसर देगा अगर वे अपने शैक्षणिक वर्ष को बर्बाद किए बिना पहले प्रयास में अपना सर्वश्रेष्ठ देने में असफल रहा तो छात्रों को परीक्षा देने का पहला अनुभव प्राप्त होगा। एजेंसी ने यह भी कहा कि अगर किसी ने नियंत्रण से बाहर होने के कारण परीक्षा में चूक की तो उसे पूरे 1 साल तक इंतजार नहीं करना होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.