PM POSHAN Scheme: आज पीएम मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक (Modi Cabinet Meeting) में कई अहम फैसले लिए गए। इसमें पीएम मोदी ने तमाम योजनाओं पर मंत्रियों से बात की और कुछ अहम कदम उठाए। इनमें सबसे अहम ये रहा कि पीएम पोषण स्कीम को मंजूरी दे दी गई है। इसकी सूचना बैठक के बाद पीयूष गोयल और अनुराग ठाकुर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए मीडिया को दी। आइए जानते हैं (PM Poshan Scheme kya hai) पीएम पोषण स्कीम क्या है, इस स्कीम से क्या फायदा होगा।

गौरतलब है कि मंगलवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता में काउंसिल ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक हुई थी। इसमें कई अहम पहलुओं पर चर्चा की गई थी। वहीं, आज की बैठक में कई प्रस्ताव पास कर दिए गए हैं। अनुराग ठाकुर ने बताया कि आज कैबिनेट ने पीएम पोषण स्कीम को शुरू करने का फैसला किया है। इस स्कीम के तहत 11.2 लाख से ज्यादा सरकारी स्कूलों के बच्चों को मुफ्त में दिन का खाना मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनाएं | How to get international driving licence in hindi

पीएम पोषण स्कीम क्या है, किसे होगा फायदा? (PM Poshan Scheme kya hai)

PM Poshan Scheme kya haiकैबिनेट की बैठक में जिस पीएम पोषम स्कीम को शुरू करने का फैसला किया गया है उसके तहत 11.2 लाख से अधिक सरकारी स्कूलों के बच्चों के मुफ्त में दिन का खाना मिलेगा। अभी सरकार ने इस स्कीम को अगले 5 सालों के लिए चलाने का फैसला किया है, जिसके लिए सरकार कुल 1.31 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी।आपको बता दें कि यह स्कीम वर्तमान में जारी मिड-डे मील की जगह पर आएगी। इस स्कीम को केंद्र सरकार राज्य सरकारों की मदद से चलाएगा। लेकिन मुख्य रूप से इस स्कीम की सारी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की होगी। इस स्कीम के तहत सरकार का उद्देश्य है देश के करोड़ों बच्चों को पोषक तत्वों से भरपूर भोजन मिले, इसके लिए प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना (PM poshan shakti nirman yojana) की शुरुआत की जा रही है।

इसे भी पढ़ें: Bank Holidays October 2021 | अक्टूबर में छुट्टियां ही छुट्टियां पूरे 21 दिन बंद रहेंगे बैंक, चेक करें छुट्टियों की पूरी लिस्ट

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार की कोशिश है कि बच्चों की पढ़ाई के साथ उनका पोषण भी सुनिश्चित किया जााए और यही देखते हुए यह नई योजना शुरू की जा रही है। इससे स्कूलों में गरीब छात्रों की उपस्थिति बढ़ेगी और उनके शिक्षा और पोषण का विकास होगा। इस योजना के जरिये शिक्षा में ‘सोशल और जेंडर गैप’ समाप्त करने में फायदा पहुंचेगा।

पीएम-पोषण शक्ति निर्माण योजना की शुरुआत (PM Poshan yojana ki shuruaat kyon ki gai )

केंद्र सरकार ने पीएम-पोषण योजना की शुरुआत की है। इससे देश भर के 11.2 लाख से अधिक सरकारी स्कूलों के बच्चों को फायदा मिलेगा। मीडिया को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह योजना 5 साल तक चलेगी और इसमें 1.31 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसके अलावा केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय निर्यात बीमा खाता (एनईआईए) योजना को जारी रखने और 5 वर्षों में 1,650 करोड़ रुपये की सहायता अनुदान को मंजूरी दी है।

इसे भी पढ़ें: गांव में बिजनेस शुरू करने के 30 बेस्ट आईडिया | Village Business Ideas in Hindi

नीमच-रतलाम ट्रैक,Rajkot-Kanalus लाइन को लेकर हुए अहम फैसले

इस प्रेस ब्रीफिंग में और भी कई स्कीम के बारे में जानकारी दी गई। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि यूनियन कैबिनेट ने नीमच-रतलाम ट्रैक को डबल करने का फैसला किया है। इस काम में 1096 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। इसके अलावा Rajkot-Kanalus लाइन को भी डबल करने का फैसला किया गया है। इस काम को पूरा करने में करीब 1080 करोड़ का खर्च आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *