नई दिल्ली: SBI की पहल पिछले कुछ दिनों से देश कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से जूझ रहा है। पिछले 8 दिनों से लगातार रोजाना तीन लाख से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। इस बीच, देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई सीएसआर गतिविधियों के तहत देश के सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में कोविड-19 (Covid-19) के मरीजों के इलाज के लिए आईसीयू सुविधा वाले अस्थाई अस्पताल तैयार करेगा।

SBI की पहल

SBI की पहल 30 करोड़ रुपये की लागत से बनाएगा अस्थाई अस्पताल

एसबीआई देश के सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में अस्थाई अस्पताल बनवा रहा है। इसमें कोविड-19 (Covid-19) मरीजों का इलाज होगा। इस बारे में एसबीआई के चेयरमैन दिनेश कुमार खारा का कहना है कि बैंक ने इस काम के लिए पहले ही 30 करोड़ रुपए की राशि रख दी है।वह एनजीओ और अस्पताल प्रबंधन के साथ इन्हें तैयार करने पर लगे हुए हैं।

SBI की पहल

उन्होंने कहा कि बैंक कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में 50 आईसीयू बेड की सुविधा वाले कुल मिलाकर 1,000 बेड की सुविधा के कुछ अस्थाई अस्पताल बनाना चाहता है। इस लिहाज से किसी स्थान पर यह 120 बिस्तरों वाला हो सकता है। जबकि कहीं 150 बिस्तरों की सुविधा वाला अस्पताल बनाया जा सकता है। यह उसे बनाने वाले अस्पताल की क्षमता पर निर्भर करेगा कि वह कितना विस्तार कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: 7th Pay Commission: सरकार ने दिया केंद्रीय कर्मचारियों को झटका, जुलाई 2021 में नहीं बढ़ेगा TA

स्टेट बैंक ने कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था करने के लिए भी सरकारी अस्पतालों और गैर-सरकारी संगठनों के साथ गठबंधन कर रहा है। इसके लिए 70 करोड़ रुपए रखे हैं। बैंक कर्मचारियों की सुविधा के लिए भी बैंक ने कदम उठाए हैं। इसके लिए उसने देशभर में अस्पतालों के साथ गठबंधन किया है ताकि उसके कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों को प्राथमिकता के साथ इलाज की सुविधा मिल सके।

वीडियो केवाईसी से अकाउंट खोलने की सुविधा

SBI ने पिछले दिनों मोबाइल बैंकिंग ऐप YONO पर वीडियो KYC के जरिए अकाउंट खोलने की सुविधा शुरू की थी। इस सुविधा के जरिये ग्राहक बिना ब्रांच गए स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) में अपना खाता खुलवा सकेंगे। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) और फेशियल रिकॉग्निशन टेक्नोलॉजी द्वारा संचालित यह डिजिटल पहल संपर्क रहित और पेपरलेस प्रॉसेस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.