काबुल:  पूर्वी अफगानिस्तान में गुरुवार को 1 महिला टीवी एंकर की गोली मारकर हत्या कर दी। इस हत्या की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है। बुधवार को मलाला मैंवंंद नाम की टीवी पत्रिका नंगरहार प्रांत स्थित अपने घर से जैसे ही कार से निकली। उन पर बाहर मौजूद हमलावरों ने गोलिया बरसानी शुरू कर दी। अस्पताल ले जाने वक्त उनकी मौत हो गई। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन ने लिया। अफगानिस्तान में महिला पत्रकार कि बेरहमी से गोली मारकर हत्या कर दी गई और उसके साथ उनका ड्राइवर भी मारा गया।

अफगानिस्तान महिला पत्रकार कि हत्या

समाचार एजेंसी आईएएनएस ने सिन्हुआ के हवाले से बताया है कि एक अधिकारी ने कहा कि एक निजी रेडियो टीवी स्टेशन में काम करने वाली महिला पत्रकार मलाला मैंवद को जलालाबाद में आज सुबह के व्यवस्ततम घंटों में अज्ञात हथियारबंद लोगों ने गोलियों से हमला कर दिया। अफगानिस्तान में महिला पत्रकार को बेरहमी से गोली मारकर हत्या करने वाले को कड़ी से कड़ी सजा दि जाए। उनका कहना है कि अपराधियों को न्याय के दायरे में लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।https://www.fastkhabre.com/reserve-bank-of-india/

अफगान सरकार व तालिबान के बीच शांति

दोहा वार्ता के एजेंडे पर अफगान सरकार व तालिबान के बीच शांति वार्ताकारी की दूसरे दिन भी मुलाकात हुई। हालांकि अब तक इन मुलाकातों के दौरान हुई बातचीत के बारे में सार्वजनिक तौर पर कुछ बताया नहीं गया है। इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ़ अफ़ग़ानिस्तान के वार्ताकारों की टीम के सदस्य गुलाम फारूक ने बताया अब तक इस बैठक के बारे में किसी तरह का ब्यौरा सामने नहीं आया है। लेकिन दोनों पक्षों ने वार्ता के लिए उम्मीद प्रकट की है। यह उम्मीद की जा रही है कि दोनों ओर से डिमांड की लिस्ट तैयार कर ली गई है।

अफगानिस्तान महिला पत्रकार एक सामाजिक कार्यकर्ता भी थी

पिछले महीने अफगानिस्तान में अलग-अलग बम विस्फोटों में दो अफगान पत्रकारों की मौत हो गई थी। अंतरराष्ट्रीय पत्रकार संगठनों ने महिला पत्रकार पर हमले की निंदा करते हुए कहा कि अफगानिस्तान पत्रकारों के लिए बेहद खतरनाक जगह है। बता दें कि टीवी और रेडियो उद्दोषक के रूप में कार्य करने के साथ मलाला एक सामाजिक कार्यकर्ता थी, और अफगानिस्तान में महिलाओं और बच्चों के अधिकारों के लिए काम करते थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.