Devyani International IPO: क्विक सर्विस रेस्टोरेंट चेन की सबसे बड़ी ऑपरेटर देवयानी इंटरनेशनल (Devyani International) का आईपीओ (IPO) आज यानी 4 अगस्त को खुल गया है। इसमें 6 अगस्त तक पैसा लगाया जा सकता है। Devyani International भारत में KFC, Pizza Hut और Costa coffee की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी कंपनी है। इश्यू का प्राइस बैंड 86-90 रुपए तय किया गया है। अपर प्राइस बैंड के लिहाज से कंपनी का आईपीओ के जरिए 1838 करोड़ रुपये जुटाने का प्लान है। (Devyani international share price) कंपनी के आईपीओ के तहत नए शेयर और ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के तहत शेयर इशू किए जाएंगे। आईपीओ से पहले कंपनी ने एंकर निवेशकों से 824 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं।

Devyani International IPO

Devyani International IPOजानकारी अनुसार  Devyani International एक मस्ट अप्लाई आईपीओ है। इसमें निवेयाक लिस्टिंग गेन और लंबी अवधि के लिए पैसे लगा सकते हैं। कंपनी का ब्रॉन्ड मजबूत है और हर उम्र वर्ग के लोगों को पसंद आने वाला है। कंपनी भारत में पिज्जा हट, KFC, कोस्टा कॉफी आपरेट करती है। यानी प्रोमोटर्स को कई ब्रांड मैनेज करने का अनुभव है और बिजनेस पूरी तरह से डाइवर्सिफाइड है।अलग बिजनेस मॉडल होने के चलते ग्रोथ पोटेंशियल शानदार है। एंकर बुक तगड़ी है और इसमें अच्छे निवेशक हैं। यह आईपीओ लिस्टिंग पर ही निवेशकों का पैसा डबल करने की ताकत रखता है। वहीं लंबी अवधि में भी यह जोरदार रिटर्न देगा। यहां सिर्फ एक ही चिंता है कि कंपनी को अबतक मुनाफा नहीं आ रहा है। लेकिन आगे ये चिंता भी जल्द दूर होने की उम्मीद जा रही है।

इसे भी पढ़ें: डूरियन फ्रूट्स Musang king: मलेशिया के पेड़ पर लगा सोना, सरकार और किसानों के बीच छिड़ी जंग

Devyani international share price

  • कंपनी ने 86-90 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया है। निवेशकों को 165 शेयरों के लॉट में बिड करना है यानी कि प्राइस बैंड के अपर प्राइस के हिसाब से कम से कम 1485 रुपये का निवेश करना होगा।
  • इशू के तहत 1398 करोड़ रुपये के शेयर ऑफर फॉर सेल के तहत जारी किए जाएंगे जबकि 440 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी होंगे। प्रति शेयर की फेस वैल्यू 1 रुपये होगी।
  • इशू का 75 फीसदी हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स, 15 फीसदी हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स और 10 फीसदी हिस्सा खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित है।
  • आईपीओ के जरिए जुटाए गए पैसों का इस्तेमाल कर्ज के रिपेंमेट या प्रीपेमेंट में किया जाएगा।
  • कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए 5.50 लाख शेयर रिजर्व रखे हैं।

देवयानी इंटरनेशनल आईपीओ सबसे बड़ी हिस्सेदारी

देवयानी इंटरनेशनल के रेवेन्यू का सबसे बड़ा हिस्सा KFC and Pizza Hut stores से आता है। 2019 में इसके रेवेन्यू में इनकी हिस्सेदारी 76.08 फीसदी थी। 2020 में बढ़कर यह हिस्सेदारी 77.49 और 2021 में 92.28 फीसदी हो गई। कंपनी के 155 शहरों में 655 स्टोर हैं।  पिछले छह महीनों में कंपनी ने पूरे देश में 109 स्टोर खोले हैं। कंपनी आगे भी अपना विस्तार करेगी।

इसे भी पढ़ें: Jio phone Buy1 Get 1 Offer: जिओ फोन यूजर्स के लिए कंपनी लेकर आई एक के साथ एक फ्री ऑफर, जल्द उठाएं लाभ

क्या देवयानी इंटरनेशनल आईपीओ सब्सक्राइब करना चाहिए

जानकारी के मुताबिक आईपीओ आने से पहले वित्त वर्ष 2021 के 1789.23 करोड़ रुपये एडजस्टेड ईबीआईटीडीए के आधार पर कंपनी 62.39 के ईवी (एंटरप्राइज वैल्यू)/ईबीआईटीडीए और 10.8 हजार करोड़ के मार्केट कैप के साथ लिस्टेड होने वाली है। इसकी पिअर्स कंपनी जुबिलैंट फूड 66.02 और वेस्टलाइफ डेवलपमेंट 206.11 की ईवी/ईबीआईटीडीए पर ट्रे़ड हो रही है। देवयानी इंटरनेशनल कोर ब्रांड बिजनेस (भारत में केएफसी, पिज्जा हट और कोस्टारिका स्टोर), इंटरनेशनल बिजनेस और अन्य कारोबार संचालित करती है। कोर ब्रांड बिजनेस और इंटरनेशनल बिजनेस से कंपनी को पिछले तीन वित्त वर्ष से 80 फीसदी से अधिक की रेवेन्यू आ रहा है। ब्रोकरेज फर्म मारवाड़ी फाइनेंशियल सर्विसेज ने इशू को ‘सब्सक्राइब’ की रेटिंग दी है। देवयानी इंटरनेशनल का पोस्ट इशू FY2021 ईवी/सेल्स जुबिलेंट फूडवर्क्स, बर्गर किंग इंडिया और वेस्टलाइफ इंडिया से कम है। देवयानी इंटरनेशनल के पास वेस्टलाइफ डेवलपमेंट और बर्गर किंग की तुलना में बेहतर ऑपरेटिंग मार्जिन है।

 

 

By Azad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *