अमेरिकी जिम्नास्टिक्स ने बुधवार को बयान में कहा कि 24 साल की सिमोन बाइल्स (Simone Biles) ने प्रतिस्पर्धा नहीं पेश करने का फैसला किया है। इससे पहले बाइल्स टीम फाइनल से भी हट गई थीं वो फाइनल से ठीक पहले अपना नाम वापस ले लिया, जिसका खामियाजा टीम को भी भुगतना पड़ा। लगातार तीसरे गोल्ड का सपना संजोई महिला टीम को सिल्वर से संतोष करना पड़ा। गोल्ड रूस तो ब्रॉन्ज ग्रेट ब्रिटेन के खाते में गया।

सिमोन बाइल्स

बीते कुछ वर्षों में खेलों में मानसिक स्वास्थय का मुद्दा काफी गर्माया है। कई दिग्गज खिलाड़ियों ने इसके चलते टूर्नामेंट भी छोड़े और ब्रेक भी लिया। इसमें ताजा नाम है दुनिया की महान महिला जिम्नास्टक अमेरिका की सिमोन बाइल्स (Simone Biles) का, बाइल्स ने इस समय खेले जा रहे टोक्यो ओलिंपिक-2020 (Tokyo Olympics-2020) के बीच में बड़ा फैसला लिया है। वह ओलिंपिक में अपने खिताब का बचाव नहीं करेंगी। यह सुपरस्टार जिम्नास्ट अपने मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान देने के लिए गुरुवार को ऑल-राउंड स्पर्धा से हट गई।

सिमोन बाइल्स को खेल के दौरान लगी थी चोट

सिमोन बाइल्स

मंगलवार को अरियाके जिमनास्टिक्स सेंटर में फाइनल मुकाबले से पहले चार बार की ओलिंपिक चैंपियन 24 वर्षीय बाइल्स अभ्यास कर रही थीं, उनका वॉल्ट वार्म अप सही तरह से नहीं हुआ। वॉल्ट टेबल रोकते समय वह हवा में लड़खड़ाई और ढाई की जगह सिर्फ डेढ़ ट्विस्ट किए। प्रतियोगिता में भी यही हुआ और उनका स्कोर 13.733 था। इसके बाद वह अपने कोच के साथ मैदान से बाहर चली गईं और लौटकर वापस नहीं आईं।

इसे भी पढ़ें: World Nature Conservation Day 2021: जानिए 28 जुलाई को क्यों मनाया जाता है विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस

खुद को देना चाहती है रेस्ट

कुछ मिनट बाद वह आई तो दाहिने पैर पर पट्टी बंधी थी। उन्होंने अपनी टीम के साथ खिलाड़ियों को गले लगाया और जैकेट तथा स्वेटपैंट पहनी। बाद में पत्रकारों से बातचीत में बाइल्स ने कहा कि उन्होंने चोट के चलते नाम वापस नहीं लिया है। यह खेल काफी तनाव भरे हैं। इनमें दर्शक नहीं है। ऐसे में खुद का ध्यान रखना होता है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगा कि बेहतर होगा कि मैं पीछे हट जाऊं मेरे दिमाग पर काम करूं। मैं नहीं चाहती कि मेरी वजह से मेडल खतरे में पड़ जाए।’

सिमोन बाइल्स ने साफ कर दिया है कि वह व्यक्तिगत कैटेगरी के इवेंट में हिस्सा लेगी। इस इवेंट से पहले थोड़ा रेस्ट है तो इससे काफी सुकून मिलेगा। ऐसे में इसके आगे का देखा जाएगा। बाइल्स ने कहा कि मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान देना जरूरी है। यदि ऐसा नहीं किया गया तो फिर खेल का मजा नहीं आएगा। इसलिए कई बार बड़े टूर्नामेंट से बाहर बैठने और खुद पर ध्यान देने की जरूरत रहती है।

इस खिलाड़ी को मिलेगी जगह

क्वालीफाइंग में नौवें स्थान पर रही जेड कैरी ऑल-राउंड स्पर्धा में बाइल्स की जगह लेंगी। कैरी शुरुआत में क्वालीफाई नहीं कर पाई थी क्योंकि वह अमेरिकी खिलाड़ियों की रैंकिंग में बाइल्स और सुनीसा ली के बाद थीं। अंतरराष्ट्रीय जिम्नास्टिक्स महासंघ के नियम के अनुसार फाइनल में एक देश के अधिकतम दो खिलाड़ी ही उतर सकते हैं। बाइल्स अपनी स्थिति का आंकलन करने के बाद फैसला करेंगी कि वह अगले हफ्ते होने वाली व्यक्तिगत स्पर्धाओं में हिस्सा लेंगी या नहीं।

इसे भी पढ़ें: Bank Holidays list of August 2021: अगस्त में 15 दिन बंद रहेंगे बैंक, यहां देखिए छुट्टियों की पूरी लिस्ट

बात करें बाइल्स की उपलब्धियों की तो उनके रिकॉर्ड की सूची में वह पांच वर्ल्ड ऑल-अराउंड खिताब जीतने वाली वह एकमात्र महिला हैं। उनके पास 30 विश्व और ओलंपिक पदक हैं, इसमें 19 वर्ल्ड खिताब और चार ओलंपिक स्वर्ण शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.