How to Start Aloe Vera Gel Business in hindi: एलोवेरा की बढ़ती मांग को देखते हुए इसका व्यवसाय करना काफ़ी लाभदायक सिद्ध हो सकता है। एलोवेरा की खेती कैसे करें 2022 एलोवेरा का व्यापार आप दो तरह से कर सकते है, एक इसकी खेती करके और दूसरी इसके जूस या पाउडर के लिए मशीन लगाकर। एलोवेरा का उपयोग हर्बल, कॉस्मेटिक उत्पाद, जूस और दवा कंपनियों इत्यादि में होता है, इसके उत्पादन में खर्च कम होने के साथ ही लाभ मार्जिन ज्यादा है। एलोवेरा अपने चमत्कारी गुण की वजह से दुनियाभर में बहुत लोकप्रिय है।आजकल एलोवेरा का प्रयोग काफी ज्यादा होने लगा हैं, मुख्यतः महिलाओं के बीच इसका काफी इस्तेमाल किया जाता हैं इसमें विटामिन और खनिज भरपूर होते है, इसके साथ ही इसमें एंटीबायोटिक और एंटीफंगल जैसे गुण मौजूद होते है।

अगर आपका प्लान AloeVera Gel Manufacturing Business करने का हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े आपको AloeVera Gel business in Hindi से सम्बन्धित सारी जानकारी इस आर्टिकल में दी हुई हैं जिसकी साहयता से आप अपना खुद का Businees शुरू कर सकते हैं अगर आप कुछ नया बिज़नस शुरू करना चाहते हैं या सोच रहे हैं तो यह आपके लिए अच्छा मौका हैं आप Aloe Vera Gel Manufacturing Business या Aloe Vera Gel Farming Business शुरू कर अपना खुद का व्यवसाय बना सकते हैं।एलोवेरा व अलोवेरा जेल व्यापार शुरू कैसे करें

Table of Contents

एलोवेरा का उपयोग ( How to Start Aloe Vera Gel Business in hindi )

How to Start Aloe Vera Gel Business in hindiघृत कुमारी यानि एलोवेरा के अर्क का प्रयोग बड़े स्तर पर सौंदर्य प्रसाधन और वैकल्पिक औषधि उद्योग जैसे चिरयौवनकारी (त्वचा को युवा रखने वाली क्रीम), आरोग्यी या सुखदायक के रूप में प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा हर्बल दवाओं में इसका उपयोग किया जाता है। एलोवेरा (घृत कुमारी) मधुमेह के इलाज में काफी उपयोगी हो सकता है साथ ही यह मानव रक्त में लिपिड का स्तर काफी घटा देता है। माना जाता है ये सकारात्मक प्रभाव इसमें उपस्थिति मन्नास, एंथ्राक्युईनोनेज़ और लिक्टिन जैसे यौगिकों के कारण होता है।

एलोवेरा की खेती के रूप में व्यवसाय और प्रमुख प्रजातियाँ (Aloe Vera Farming Business Plan )

एलोवेरा मे कई प्रजातियां पाई जाती हैं, जिनमें सबसे प्रसिद्ध हैं चान्सिस, लिटोरेलिस, एलो एबिसिनिका। भारत में पाई जाने वाली इसकी उच्च उत्पादक प्रजातियाँ हैं – IEC 111271, AAL1, IEC 111269।

इसकी खेती करना बहुत ही आसान है। एक हेक्टेयर भूमि में 40 से 50 टन तक उपज हो सकती है। इसकी खेती के लिए वर्षा और नम क्षेत्र की आवश्यकता होती है। इसकी खेती शुष्क क्षेत्रों में भी की जा सकती है। इसकी खेती के लिए थोड़ी ऊंची जमीन बेहतर होती है, ताकि पानी ठहर न सके, नहीं तो पौधे को नुकसान हो सके।

इसकी खेती के लिए 1 हेक्टेयर भूमि पर पहले खेत की जुताई करें और उसमें 10 टन गोबर, 150 किलो फास्फोरस, 33 किलो पोटाश और 120 किलो यूरिया का छिड़काव करें, फिर दोबारा जुताई के लिए तैयार मिट्टी की जुताई करें। पूरा हो गया है।

इसे भी पढ़ें: गांव में बिजनेस शुरू करने के 30 बेस्ट आईडिया | Village Business Ideas in Hindi

एलोवरा की खेती के लिए स्थान की चयन (Aloe Vera Farming Required Place)

  • पौधे रोपने के लिए क्यारी बनाकर एक पौधे से दूसरे पौधे के बीच 50 सेमी की दूरी बनाकर पौधे रोपे जाते हैं।
  • पौधे लगाने का सबसे अच्छा समय फरवरी-मार्च और जून-जुलाई के महीनों में होता है, हालाँकि इसकी खेती पूरे साल की जा सकती है।
  • 1 हेक्टेयर भूमि में 10,000 तक पौधे लगाए जा सकते हैं, पौधे लगाने के बाद हल्के पानी से सिंचाई करें।
  • एलोवेरा के पौधे को एक बार लगाने से इसकी फसल को तीन साल तक काटा जा सकता है।
  • रोपण के बाद, यह 8 से 10 महीने में कटाई के लिए तैयार हो जाता है।
  • पहले वर्ष में उत्पादन लगभग 50 टन होता है, दूसरे वर्ष में इसका उत्पादन 15 से 20 प्रतिशत तक बढ़ जाता हैं।

इसे भी पढ़ें: Notebook Making Business in Hindi | कॉपी बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें

एलोवेरा जेल व्यवसाय के लिए आवश्यक चीजें Aloe Vera Gel Business Idea 2022

इस व्यवसाय ( Aloe Vera Business ) की शुरुआत, जहां बिजली कनेक्शन आसानी से उपलब्ध हो, पानी की आपूर्ति के साथ-साथ श्रम और परिवहन की उपलब्धता, जूस या जेल ( Aloe Vera Gel ) बनाने की मशीन इस व्यवसाय के लिए ऐसी जगह पर स्थापित की जा सकती है। इस व्यवसाय ( Business ) को पूरी तरह से स्थापित करने के लिए 1000 वर्ग फुट के कवर क्षेत्र की आवश्यकता हो सकती है।

एलोवेरा की खेती के व्यवसाय में लगने वाली लागत Aloe Vera Cultivation Cost

एलोवेरा के व्यवसाय ( Aloe Vera Gel Business ) में प्रयुक्त होने वाली सामग्री पर होने वाला खर्च इस प्रकार है-

  • संयंत्र की लागत 27500 रुपये।
  • गोबर की खाद, रसायन व पौधों की सिंचाई पर खर्च हुए 8750 रुपये।
  • उत्पादों की पैकेजिंग और श्रम की लागत 14,500 रुपये हो सकती है।
  • इस एलोवेरा की खेती व्यवसाय लाभ
  • हम एलोवेरा की खेती के व्यवसाय ( Aloe Vera Farming Business ) में 60,000 रुपये तक निवेश करके आप 5 से 6 लाख रुपये का मुनाफा कमा सकते हैं।

एलोवेरा जेल या जूस के व्यवसाय से लाभ (Aloe Vera Gel Business Profit)

  • एलोवेरा के जूस ( Aloe Vera Juice Business ) के लिए प्रोसेसिंग यूनिट लगाने में लगभग 6 से 7 लाख तक का निवेश ( Investment ) करना पड़ सकता है।
  • मशीन के माध्यम से आप 150 लीटर तक जूस निकाल सकते है।
  • 1 लीटर जूस बनाने में 40 रूपये तक का खर्च आता है।
  • इस जूस को अगर आप बाजार में बेचे तो 150 रूपये तक इसका मूल्य मिल सकता है। और इस निवेश ( Aloe Vera Gel Business ) को करने के बाद आप जूस बेचकर 20 लाख रुपये तक की कमाई कर सकते है।

इसे भी पढ़ें: Krushi Seva Kendra कैसे खोले । कृषि सेवा केंद्र लाइसेंस के लिए Online Registration की पूरी प्रक्रिया

एलोवेरा की खेती कब और कैसे करें? जलवायु व भूमि How to Start Aloe Vera Gel Business in hindi

  • एलोवेरा की खेती के लिए उष्ण जलवायु अच्छी रहती है।
  • इसकी खेती आमतौर पर शुष्क क्षेत्र में न्यूनतम वर्षा और गर्म आर्द्र क्षेत्र में सफलतापूर्वक की जाती है।
  • यह पौधा अत्यधिक ठंड की स्थिति के प्रति बहुत संवेदनशील है।
  • बात करें इसके लिए मिट्टी या भूमि की तो इसकी खेती रेतीली से लेकर दोमट मिट्टी तक विभिन्न प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है।
  • रेतीली मिट्टी इसके लिए सबसे अच्छी होती है। इसके अलावा अच्छी काली मिट्टी में भी इसकी खेती की जा सकती है।
  • भूमि चयन करते समय हमें ये ध्यान रखना चाहिए कि इसकी खेती के लिए भूमि ऐसी हो जो जमीनी स्तर थोड़ी ऊंचाई पर हो और खेत में जल निकासी की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए क्योंकि इसमें पानी ठहरना नहीं चाहिए। इसकी मिट्टी का पीएच मान 8.5 होना चाहिए।

एलोवेरा की खेती (aloe vera farming in hindi) कैसे करें?

  • अगर आपको भी एलोवेरा की खेती से सम्बन्धित कोई भी जानकारी नही है तो आपकी जानकारी के लिए बता दे की आप 1 हेक्टेयर भूमि पर एलोवेरा की खेती (aloe vera cultivation in hindi) के लिए सबसे पहले खेत की जुताई किया जाता है।
  • उसके बाद उसमें 10 टन खाद, 150 से 200 किलो ग्राम फास्फोरस, 30 से 40 किलोग्राम पोटाश और 100 से 120 किलोग्राम यूरिया मिलाकर छिडकाव किया जाता है।
  • इसके बाद फिर दुबारा से खेत की जुताई किया जाता है।
  • और उसके बाद एलोवेरा पौधा रोपण के लिए क्यारियों को बना कर एक पौधे से दूसरे पौधे के बीच 50 सेंटीमीटर की दूरी रखते हुए पौधों को रोपा जाता है।
  • और उसके 8 से 10 महीने बाद यह एलोवेरा का पौधा कटाई के लिए तैयार हो जाता है, और बाकी के प्रोसेस इसके बाद किया जाता है।

एलोवेरा जेल या जूस के व्यावसाय के लिए लाइसेंस और क़ानूनी दस्तावेज़ (Aloe Vera Gel Business License)

लाइसेंस प्राप्ति की क़ानूनी प्रक्रिया व्यवसाय के स्थान पर निर्भर करती है, हर स्थान का अपना एक क़ानूनी नियम होता है, सामान्यतः कंपनी का रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस राज्य के सरकारी प्राधिकरण द्वारा प्राप्त किया जाता है। अगर आप कॉस्मेटिक उत्पादों के लिए फैक्ट्री स्थापित करते है, तो आपको इसके लिए विशेष लाइसेंस प्राप्त करना होगा।

  • सबसे पहले प्रबंधन पैटर्न के अनुसार अर्थात आप किस तरह का व्यवसाय करने जा रहे है उसका रजिस्ट्रेशन करें।
  • एमएसएमई उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन आवेदन करें। 
  • प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एनओसी में आवेदन करें।  
  • इसके अलावा आपके पास पैन कार्ड के साथ वर्तमान बैंक अकाउंट भी होना चाहिए।     

एलोवेरा जेल या जूस के व्यवसाय में सरकार से मिलने वाले फायदे (Aloe Vera Gel Business Cost)

  • एलोवेरा जूस के व्यवसाय के लिए सरकार 90 फीसदी तक का ऋण देती है।
  • इसके साथ ही इस ऋण पर 3 साल तक कोई ब्याज नहीं लेती है। इसके अलावा इस पर 25 फीसदी तक सब्सिडी भी सरकार के द्वारा मुहैया कराई जाती है।

निष्कर्ष conclusion

इस तरह आप ऊपर दिये गए केवल कुछ स्टेप्स को फॉलो करके आप आसानी से एलोवेरा फार्मिंग (Aloe Vera Farming) और एलोवेरा जेल का बिजनेस शुरू कर सकते हैं आपको यह आर्टिकल एलोवेरा का बिजनेस कैसे शुरू करें कैसा लगा कमेंट मे जरूर बताएं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *