America Travel Advisory 2021: अमेरिक ने अपने नागरिकों के लिए कोविड-19 महामारी और आतंकवाद के मद्देनजर पाकिस्तान और बांग्लादेश की यात्रा की योजना पर पुनर्विचार करनेे संबंधी यात्रा परामर्श जारी किया है। अमेरिका की नई सरकार द्वारा जारी ट्रैवल एडवाइजरी (Travel Advisory) में भारत का जिक्र किया है। जो वाइडेन प्रशासन ने अपने नागरिकों को कहा है कि मौजुद वक्त में उन्हें भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश की यात्रा से बचनाा चाहिए। एडवाइजरी बताया गया है की कोरोना महामारी और आतंकवाद के मद्देनजर इन देशों की यात्रा की योजना पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए। इसके इलावा सरकार कई अन्य देशों पर ट्रैवल (Travel) बैैन लगाने की तैयार कर रही है।

America Travel Advisory 2021

भारत के बारे में अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत में कोरोना वायरस के केस लगातार कम हो रहे हैं, पर भारत अव भी level-4 में ही है। जो यात्रा के लिए बिल्कुल सही नहीं है। उसने यह भी कहा कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर जान का खतरा है। इसलिए अमेरिका के नागरिक वहां ना जाएं।

America Travel Advisory 2021 इन देशों के लिए जारी

दक्षिण एशिया के 4 देशों के लिए ट्रैवल एडवाइजरी को जारी करते हुए। अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को अलग-अलग यात्रा परामर्श जारी किए हैं। इन सब एडवाइजरी में Covid-19 आतंकवाद जातीय हिंसा से पाकिस्तान यात्रा से बचना चाहिए। वही आतंकवाद और अपहरण की घटनाओं को देखते हुए खैबर पख्तूनख्वा और बलूचिस्तान में ना जाने की अपील की है।https://www.fastkhabre.com/archives/2999

इसके अलावा अमेरिका ने नागरिकों से कोविड-19 महामारी तथा अपराध, आतंकवाद और अपहरण की घटनाओं की वजह से बांग्लादेश की यात्रा की योजना पर भी पुनर्विचार करने को कहां है।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो वाइडेन ने आयरलैंड, ब्राज़ील, ब्रिटेन और अन्य यूरोपीय देशों से आने वाले यात्रियों पर एक बार फिर औपचारिक रूप से कोविड-19 के मद्देनजर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया है। कोविड-19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए दक्षिण अफ्रीका पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।

FAITH ने भारत सरकार से लगाई गुहार

अमेरिका ने भारत को level-4 में रखा है। ऐसे में वहां यात्रा करना सही नहीं है। वही इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी संघ (FAITH) ने भारत सरकार से गुहार लगाई है, कि वे अमेरिका सरकार से ट्रैवल एडवाइजरी को बदलने के लिए दबाव डालें। FATH ने कहा कि सरकार इसे प्राथमिकता के आधार पर ले ताकि देश के बारे में बन रही नकारात्मक छवि को रोका जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.