नई दिल्ली: तीसरी लहर (Corona Third Wave) की आशंका के बीच कोरोना का नया वेरिएंट मिला है। दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिकों का दावा है कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते ममालों के बीच मल्टीपल म्युटेशन के साथ नए कोरोना वेरिएंट (COVID19 Variant) का पता लगा है। इससे पहले डब्ल्यूएचओ (WHO) के यूरोप ऑफिस द्वारा अगले कुछ दिन में कोविड-19 से मौत के मामले बढ़ने की आशंका जताई गई थी।

नए कोरोना वेरिएंट के अब तक मिले इतने मामले (Corona Third Wave)

Corona Third Waveनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कम्युनिकेबल डिजीज द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक वैज्ञानिक इस नए कोरोना वेरिएंट के संभावित प्रभावों को समझने की कोशिश कर रहे हैं। जीनोमिक सीक्वेंसिंग के बाद पता चला है कि वेरिएंट बी 1.1.529 के अब तक 22 मामले सामने आ चुके हैं। इससे पहले भी दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के वेरिएंट पाए जा चुके हैं। पिछले साल दक्षिण अफ्रीका में सबसे पहले कोरोना के बीटा वेरिएंट का पता चला था। इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वेरिएंट सी.1.2 बसका पता लगाया गया था।

इसे भी पढ़ें: (पंजीकरण) बिहार डीजल अनुदान योजना 2021 | डीजल अनुदान योजना ऑनलाइन आवेदन, Online Registration,

नए कोरोना वेरिएंट से 53 देशों में खतरे की घंटी

दूसरी तरफ हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के यूरोप ऑफिस ने कहा था कि पूर्वानुमानों के मुताबिक 53 देशों में अगले वसंत तक कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) से सात लाख और लोगों की मौत हो सकती है, जिससे संक्रमण से मौत के कुल मामले 20 लाख से ज्यादा हो सकते हैं। डब्ल्यूएचओ यूरोप का यूरोप ऑफिस डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन में है। कोरोना की मामले बढ़ने की आशंका के बीच WHO ने कहा कि कमजोर इम्युनिटी वाले, 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और स्वास्थ्य कर्मियों समेत सबसे अधिक संवेदनशील आबादी को टीके की बूस्टर खुराक देने में प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *