देश में कोरोना वायरस के मामले (Coronavirus Cases in India) लगातार बढ़ रहे हैं। तेजी से बढ़ रहे मामलों को देखते हुए एक्सपर्ट्स का मानना है कि भारत में इस जानलेवा वायरस की तीसरी लहर (Covid-19 Third Wave) आ चुकी है। ऐसे में बड़े शहर जहां पर रोजाना पिछले दिन के मुकाबले काफी ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं वहां लॉकडाउन जैसे कड़े प्रतिबंध लगाना जरूरी होता जा रहा है। हालांकि कई राज्यों में पहले ही कड़े प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं लेकिन इसके बावजूद भी सभी प्रयास असफल नजर आ रहे हैं।

दिल्ली, महाराष्ट्र, पंजाब, बिहार, उत्तर प्रदेश जैसे कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया जा रहा है। वहीं राष्ट्रीय राजधानी में वीकेंड कर्फ्यू भी लगाया गया है। इसके अलावा अधिकतर राज्यों में शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है। साथ ही साथ सरकारी दफ्तरों में भी कर्मचारियों की संख्या सीमित कर दी गई है। साथ ही समारोहों में मेहमानों की संख्या भी कम की गई है। आइये देखते हैं कि कौन से राज्यों में लॉकडाउन लगाने की स्थिति बन रही है।

जानिए कौन से राज्यो में लॉकडाउन लगाने की स्थिति बन रही है Covid-19 Third Wave

Covid-19 Third Wave

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के मामले

कोरोना संक्रमण के मामलों में कोविड की दोनों लहरों के दौरान बुरी तरह जूझ चुके महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के चलते तीसरी लहर का संकट बना हुआ है। महाराष्ट्र में हर दिन पिछले दिन के मुकाबले कई गुना ज्यादा केस आ रहे हैं। मंगलवार को सिर्फ मुंबई में ही करीब 11 हजार केस आए हैं। मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर का कहना है कि अगर शहर में रोजाना 20000 केस सामने आए तो लॉकडाउन लगाया जाएगा।पेडनेकर ने कहा कि मुंबई में फिलहाल कोविड की तीसरी लहर नहीं आई है, लेकिन बीएमसी और राज्य सरकार इसे रोकने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि अभी जो टेस्ट हो रहे हैं उसमें डेल्टा का नया वायरस और ओमिक्रॉन के वेरिएंट जीनोम सिक्वेंसिंग में सामने आ रहे हैं।

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले

आपको बता दें कि दिल्ली में भी कोरोना की रफ्तार दिल दहलाने वाली साबित हो रही है। राजधानी में मंगलवार को करीब 5500 नए केस दर्ज किए गए हैं। हालांकि दिल्ली सरकार फिलहाल लॉकडाउन नहीं लगाने जा रही है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने यह स्पष्ट कर दिया है। दिल्ली में वीकेंड यानी शनिवार और रविवार को कर्फ्यू रहेगा। यानी इस दौरान घरों से निकलने पर पाबंदी रहेगी।राजधानी में नाइट कर्फ्यू पहले से ही लागू है। डीडीएमए की बैठक में ये फैसला भी लिया गया है कि सरकारी दफ्तरों में जरूरी सेवाओं से जुड़े दफ्तरों को छोड़कर सभी लोग वर्क फ्रॉम होम करे। इसके अलावा, निजी संस्थानों में 50 फीसदी वर्क फ्रॉम होम करने के लिए भी कहा गया है।

इसे भी पढ़ें: LIC Saral Pension Yojana New scheme 2022 | एलआईसी ने लॉन्च किया जबरदस्त प्लान एक बार पैसे जमा करने पर पूरी जिंदगी मिलेगा पेंशन

बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले Covid-19 Third Wave

Covid-19 Third Waveवही बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नीतीश सरकार ने राज्य में रात 10 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही कक्षा 9वीं, 10वीं, 11वीं, 12वीं के स्कूल और सभी कॉलेज 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुलेंगे। सभी पूजा स्थल श्रद्धालुओं के लिए अगले आदेश तक बन्द रहेंगे, केवल पुजारी ही पूजा कर सकेंगे। इसके साथ ही सिनेमा हॉल, जिम, पार्क, क्लब, स्टेडियम, स्वीमिंग पूल पूर्णत बन्द रहेंगे।

इसे भी पढ़ें: WhatsApp New Features 2022 in Hindi | व्हाट्सऐप पर आ रहे हैं ये शानदार फीचर | एंड्रॉयड से आईफोन पर होगी चैट ट्रांसफर

पश्चिम बंगाल मे करोना संक्रमण के मामले

पश्चिम बंगाल Covid-19 Third Wave में मंगलवार को कोविड-19 के 9,073 नए मामले आए जो पिछले दिन के मुकाबले 49.27 प्रतिशत अधिक है। इनमें से करीब आधे मामले राजधानी कोलकाता के हैं। एक्सपर्ट पहले ही कोलकाता में कोविड की तीसरी लहर की शुरुआत के बारे में आगाह कर चुके हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार पश्चिम बंगाल और पूर्वी भारत का सबसे बड़ा महानगर कोलकाता कोविड -19 महामारी की तीसरी लहर की चपेट में है, जिसके फरवरी तक बने रहने की आशंका है और इस महीने के दूसरे सप्ताह में संक्रमण के मामले चरम पर पहुंच सकते हैं। संक्रमण के मामलों में भारी वृद्धि के चलते बंगाल में सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने और कार्यालयों में कर्मियों की उपस्थिति 50 प्रतिशत तक सीमित करने के आदेश के साथ कोविड संबंधी प्रतिबंधों को फिर लागू कर दिया है। साथ ही मुंबई और नई दिल्ली से उड़ानें सप्ताह में केवल तीन बार चलेंगी।

झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण

यहां झारखंड में भी 15 जनवरी तक बाजार सिर्फ रात 8 बजे तक खुले रहेंगे। इस दौरान रेस्टोरेंट, बार आदि की दुकानें खुली रहेंगी। वहीं 15 जनवरी तक झारखंड के स्टेडियम, पार्क, जिम, जू , पर्यटन स्थल, शिक्षण संस्थान सब बंद रहेंगे। हालांकि शैक्षणिक संस्थानों में प्रशासनिक कार्य 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित होते रहेंगे। वही शादी-विवाह या श्राद्ध के लिये आयोजन स्थल का क्षमता से आधा या 100 लोगों तक शामिल होने की छूट दी गई है। फिलहाल हाट – बाजार के लिये सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने की अनिवार्यता को कठोरता से पालन करने का निर्णय लिया गया है। वही शादी-विवाह या श्राद्ध के लिये आयोजन स्थल का क्षमता से आधा या 100 लोगों तक शामिल होने की छूट दी गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *