Cyclone Asani Alert : भारतीय मौसम विभाग ने साल के पहले चक्रवाती तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक चक्रवाती तूफान Cyclone Asani अगले हफ्ते रफ्तार पकड़ेगा। दक्षिण-पश्चिम हिंद महासागर में आने वाले तूफान के अगलेे Cyclone Asani Latest Update in hindi सप्ताहकी शुरुआत में चक्रवात में बदलने की संभावना है।

Cyclone Asani Alert चक्रवात का नाम असानी श्रीलंका ने सुझाया 

Cyclone Asani Alert

मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार (15 मार्च) को इसका कम दबाव का क्षेत्र बना। पूर्वी और उत्तर पूर्वी दिशा में बढ़ते हुए शनिवार तक यह चक्रवात का रूप ले सकता है। इसके बाद अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के तट पर ये दस्तक दे सकता है। इसके 20 मार्च को तूफान और 21 मार्च को चक्रवाती तूफान में बदलने की उम्मीद है। चक्रवाती तूफान 22 मार्च तक उत्तर और उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा। चक्रवात बनने के बाद मौसम की घटना को आसनी (Asani) नाम दिया जाएगा। चक्रवात का यह नाम भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका ने सुझाया था।

इसे भी पढ़ें: FATCA Kya Hai in hindi | FATCA का मुख्य उद्देश्य और इसके क्या फायदे है | भारत में फॉरेन एकाउंट टैक्स कॉम्पलेंस एक्ट विनियम जानकारी व लाभ

कई क्षेत्रों में कहर बरपा सकता है चक्रवाती तूफान Asani

पूर्वानुमान के अनुसार यह 23 मार्च की सुबह तक बांग्लादेश और उत्तरी म्यांमार के आसपास के क्षेत्रों की ओर भी दिशा बदल सकता है। जैसे ही यह चक्रवात का रूप लेने के बाद आज और कल बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्वी हिस्से के साथ-साथ दक्षिण अंडमान सागर में कहर बरपा सकता है।

Asani तूफान को देखते हुए  मछुआरों के लिए जारी किया अलर्ट

मछुआरों को बुधवार को दक्षिण बंगाल की खाड़ी और उससे सटे हिंद महासागर के बीच के भागों में नहीं जाने की सलाह दी गई है। गुरुवार और शुक्रवार के लिए जारी की गई एडवाइजरी में दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और अंडमान सागर में नहीं जाने का अलर्ट जारी किया गया है। शनिवार से मंगलवार तक मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे अंडमान सागर और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह से लगे इलाकों में न जाएं।

इसे भी पढ़ें: आलू बुखारा के फायदे व नुकसान | Plum (Alubukhara) Benefits And Side Effects In Hindi | Aloo Bukhara in pregnancy

खराब मौसम को लेकर जारी हुई चेतावनी

रविवार को अंडमान-निकोबार में तेज हवाएं चलने की संभावना है। सोमवार को 70-80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है। यह 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक के तूफानी हवाओं में बदल सकती है। तेज हवा और भारी बारिश आशंकओं के बीच मौसम खराब होने का अनुमान जताया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *