मछली उत्पादन को देश में बढ़ावा देने के लिए हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की शुरुआत 10 सितंबर 2020 में की गई थी। इस योजना के माध्यम से लोग मछली पालन कर अच्छी कमाई कर सकेंगे एवं अपनी आर्थिक स्थिति में काफी सुधार ला सकेंगे। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से PM Matsya Sampada Yojana 2022 से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ विशेषताएं पात्रता एवं आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। पीएम मत्स्य संपदा योजना से जुड़ी तमाम महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस लेख को पूरा पढ़ें।

Apply Online Under PM Matsya Sampada Yojana |प्रधानमंत्री मत्स्य संपादन योजना क्या है?| प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना ऑनलाइन आवेदन | (PMMSY) PM Matsya Sampada Yojana Online Form Pdf | Benefits & Eligibility To Apply For PM Matsya Sampada Yojana | PM Matsya Sampada Yojana kya hai in Hindi All Details | PMMSY Registration Online Apply

Table of Contents

About PM Matsya Sampada Yojana पीएम मत्स्य संपदा योजना क्या है? 

PM Matsya Sampada Yojana 2022

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 10 सितंबर 2020 को Matsya Sampada Yojana को शुरू किया गया। ‌ पीएम द्वारा एक ट्वीट के माध्यम से कहा गया था कि इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि मछली पालन को देश में बढ़ावा दिया जाए। PM Matsya Sampada Yojana को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि मछुआरों को रोजगार प्राप्त हो सके और देश में मछली पालन में वृद्धि हो सके। सरकार द्वारा इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए 20,050 करोड़ रुपए की धनराशि निर्धारित कर दी गई है। 2021 से 2025 तक सरकार का लक्ष्य है कि देश में मत्स्य पालन को बढ़ावा दिया जा सके ताकि मछली पालकों की आय में वृद्धि हो और वह अपना जीवन यापन अच्छे से कर सकें।

PM Matsya Sampada Yojana 2022 पीएम मत्स्य संपदा योजना की शुरुुुआत कब हुई?

10 सितंबर 2020 को पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री की मौजूदगी में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना को आधिकारिक रूप से लांच किया। इस योजना को शुरू करने का मकसद है कि मछुआरे किसानों की आय 2 गुना हो जाए। इस योजना के तहत जनपद में 25 यूनिट बायोफ्लॉक बनवाए जाएंगे और तीन लघु रि सर्कुलेटरी सिस्टम लगवाए जाएंगे ताकि इनको लगाने में मछली पालकों की आमदनी दोगुना हो जाएगी आपको बता दें कि मत्स्य संपदा योजना 2022 के तहत मछली पालन करने वाले 10 लाभार्थियों को साइकिल और आइस बॉक्स के लिए ₹10000 प्रदान किए जाएंगे ताकि वह कुल्फी की तर्ज पर साइकिल से गांव व शहर घूम कर मछलियां बेच सकें और उनकी आय का साधन बन जाए।

इसे भी पढ़ें: {आवेदन } सुरक्षित मातृत्व आश्वासन सुमन योजना 2022 | सुरक्षित मातृत्व आश्वासन योजना क्या है और इसका लाभ कैसे उठाएं

PM Matsya Sampada Yojana 2022 Highlights  मत्स्य संपदा योजना के मुख्य तथ्य

योजना का नाम प्रधान मंत्री मत्स्य संपदा योजना
इसे किसके द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
आरंभ तिथि 10 सितंबर 2020
योजना का उद्देश्य मछली का उत्पादन और मत्स्य निर्यात का उद्योग बढ़ावा देना
योजना के लाभार्थी मछुआ किसान
योजना का लाभ बागवानी वस्तुओं को विशाल बर्बादी से रोकना
आवेदन के प्रकार ऑनलाइन
अधिकारिक वेबसाइट www.pmmsy.dof.gov.in

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का उद्देश्य (Objective) 

  • इस योजना के तहत बागवानी वस्तुओं की विशाल बर्बादी को रोकने में भी मदद प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से भोजन तैयार करने वाले हिस्से के विकास का विस्तार किया जाएगा।
  • देश में जीडीपी रोजगार और उद्यम का निर्माण इस योजना के माध्यम से किया जाएगा।
  • साथ ही साथ प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के माध्यम से बागवानी वस्तुओं की भारी बर्बादी कम होगी।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना को किसान क्रेडिट कार्ड से जोड़ा जाएगा

  • मत्स्य पालकों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने हेतु मत्स्य पालन विभाग द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड योजना से जोड़ने का निर्णय लिया गया है।
  • PM Matsya Sampada Yojana से जोड़ने के बाद अपनी आय को दोगुना कर पाएंगे जिससे उन्हें अपना जीवन यापन करने में किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • साथ ही साथ जिला मत्स्य अधिकारी द्वारा बताया गया है कि जिला स्तरीय समिति द्वारा मत्स्य पालक को प्रति हेक्टेयर 2 लाख रुपये का लोन देने का ऐलान किया है।
  • इस धनराशि को प्राप्त करने के बाद मत्स्य पालक लाभान्वित होंगे एवं आत्मनिर्भर बनेंगे।

इसे भी पढ़ें: Samarth Yojana 2022 | Samarth scheme in Hindi | (पंजीकरण) समर्थ योजना क्या है | समर्थ योजना के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लक्ष्य

हमारे प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुरू की गई PM Matsya Sampada yojana का मुख्य लक्ष्य है कि मत्स्य उत्पादन में अतिरिक्त 70 लाख टन की वृद्धि हो और 2024 से 25 तक मत्स्य निर्यात से होने वाली आय तकरीबन एक करोड़ रुपए तक बढ़ाना है। इससे हमारे देश में मछुआरे और मत्स्य से किसानों की आय में वृद्धि होगी तथा पैदावार के बाद होने वाले नुकसान 20 से 25% घटकर 10% हो जाएगा। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि मत्स्य पालन क्षेत्र और सहायक गतिविधियों में 55 लाख रोजगार के अवसर पैदा हों।

पीएमएमएसवाई 2022 के लाभार्थी

इस योजना का कार्यान्वयन देश के मछुआरों के लिए किया गया है। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत आने वाले मछुआरे कुछ इस प्रकार हैं-

  • मछुआरे
  • मछली किसान
  • मछली श्रमिक और मछली विक्रेता
  • मत्स्य विकास निगम
  • मत्स्य पालन क्षेत्र में स्वयं सहायता समूह
  • उद्यमी और निजी फर्म
  • मत्स्य सहकारी समितियां
  • मछली किसान उत्पादक संगठन कंपनियां अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति महिलाएं विकलांग व्यक्ति राज्य सरकार
  • राज्य मत्स्य विकास बोर्ड
  • केंद्र सरकार और उसके संस्थाएं

PMMSY- बिहार

राज्य सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष के लिए प्रमुख घटकों को 7 करोड़ की परियोजना लागत की मंजूरी दी जो कि कुछ इस प्रकार है

  • पुन: परिचालित एक्वाकल्चर सिस्टम (RAS) की स्थापना,
  • एक्वाकल्चर के लिए बायोफ्लो तालाबों का निर्माण,
  • फिनफिश हैचरी,
  • जलीय कृषि के लिए नए तालाबों का निर्माण,
  • सजावटी मछली संस्कृति इकाइयों,
  • जलाशयों / आर्द्रभूमि में केज की स्थापना,
  • बर्फ के पौधे,
  • प्रशीतित वाहन,
  • बर्फ बॉक्स के साथ मोटर साइकिल,
  • मछली फ़ीड पौधों,
  • बर्फ बॉक्स के साथ तीन पहिया,
  • बर्फ बॉक्स के साथ चक्र,
  • विस्तार और सहायता सेवाएं (मत्स्य सेवा केंद्र),
  • ब्रूड बैंक की स्थापना, आदि।

Benefits Of PM Matsya Sampada Yojana प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लाभ

इस योजना के लाभ कुछ इस प्रकार है-

  • इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा देश के मछुआरों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू किया गया है।
  • PM Matsya Sampada Yojana के अंतर्गत देश में मछली पालन क्षेत्र को आगे बढ़ावा दिया जाएगा।
  • देश के मछुआरे अब विभिन्न प्रकार के लाभ प्राप्त कर अपनी आय मैं वृद्धि प्राप्त कर सकेंगे।
  • इस योजना के माध्यम से मछुआरों की आर्थिक स्थिति में काफी सुधार पैदा होगा।
  • प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के माध्यम से देश में मछली का उत्पादन बढ़ेगा।
  • सरकार द्वारा इसके सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए 20,050 करोड़ रुपए की धनराशि निर्धारित कर दी गई है।
  • सरकार ने PMMSY का शुभारंभ केवल 17000 करोड़ से किया है।
  • निर्धारित धनराशि का उपयोग सरकार द्वारा 2021 और 2025 तक किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत मछली पालको को लाभ के साथ साथ रिस्क भी उठाना पड़ेगा।
  • मछली पालन के लिए लोगों को तालाब हेचडी फीडमिल क्वालिटी टेस्टिंग लैब की आवश्यकता पड़ेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकारों द्वारा अलग-अलग नियम निर्धारित किए गए हैं।
  • यदि आप भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको 31 अगस्त 2021 से पहले ही इस योजना के तहत आवेदन करना होगा।
  • आवेदन करने हेतु आप पीएम मत्स्य संपदा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: [Registration] यूपी फ्री लैपटॉप योजना 2022 | यूपी फ्री लैपटॉप योजना क्या है | UP Free Laptop Yojana 2022 Online Form

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की विशेषताएं

इस योजना के की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं  इस प्रकार हैं-

  • इस योजना की शुरूआत प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 10 सितंबर 2020 को की गई थी।
  • हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा इसे एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आरंभ किया गया था।
  • साथ ही साथ पीएम द्वारा एक ट्वीट करके बताया गया था कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना  को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि मछली पालन को बढ़ावा दिया जा सके।
  • यह योजना एक ब्लू रेसॉल्यूशन स्कीम के तौर पर कार्य करेगी‌।
  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि देश में मत्स्य उत्पादन को बढ़ावा दिया जा सके।
  • ना केवल मत्स्य उत्पादन में बढ़ावा आएगा बल्कि मछुआरों की आय में भी वृद्धि होगी।
  • अब देश के मछुआरे अपना जीवन यापन अच्छे से कर सकेंगे एवं वे आत्मनिर्भर व सशक्त बनेंगे।
  • PMMSY के अंतर्गत सरकार द्वारा 2025 तक 70 लाख मीट्रिक टन उत्पादन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • सरकार का कहना है कि इस लक्ष्य को पूरा करने पर मछुआरों की आय में लगभग 1 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी आएगी।
  • इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 20,050 करोड़ रुपए की धनराशि निर्धारित कर दी गई है।
  • इस योजना के माध्यम से देश के मछुआरों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।
  • यदि आप ही इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको जल्द से जल्द इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की अंतिम तिथि सरकार द्वारा 31 अगस्त 2021 निर्धारित कर दी गई हैं।
  • अंतिम तिथि से पहले पहले ही आप इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदन करने के बाद आपको राज्य सरकारों द्वारा सब्सिडी मुहैया कराई जाएगी।
  • विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana के तहत अलग-अलग नियम निर्धारित किए गए हैं।

पीएम मत्स्य संपदा योजना के लिए पात्रता PM Matsya Sampada Yojana 2022

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • उम्मीदवार मत्स्य पालन क्षेत्र का होना चाहिए।
  • आवेदक गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहा हो।

मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत आवेदन की प्रक्रिया How to Apply For PM Matsya Sampada Yojana

देश के जो इच्छुक लाभार्थी PMMSY के अंतर्गत आवेदन करवाना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए प्रक्रिया का पालन करना होगा।

  • इसके लिए सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की अधिकारी वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइटपर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर जाने के बाद आपको आवेदन करें के बटन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुलकर जाएगा।
  • इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे नाम, डेट ऑफ बर्थ, लिंग आदि दर्ज करना है।
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेज अटैच करने हैं।
  • सभी  दस्तावेज अटैच करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपका आवेदन हो जाएगा।

ई गोपाला ऐप 

  • ई गोपाला ऐप को किसानों के लिए शुरू किया गया है इस ऐप की मदद से किसान पशु धन सहित प्रबंधन कर सकते हैं।
  • आपके माध्यम से सभी रूप में रोग मुक्त जर्म्प्लाज्म को खरीदना और बेचना हो सकता है।
  • पशुओं के पोषण के लिए गुणवत्तापूर्ण प्रजन सेवाओं और मार्गदर्शन किसानों की उपलब्धता होगी।
  • उपयुक्त आयुर्वेदिक दवा नवशविज्ञान विज्ञान चिकित्सा का उपयोग करने वाले जानवरों का उपचार होगा।

PM Matsya Sampada Yojana 2022 गाइडलाइंस देखने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो गाइडलाइंस देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा-

  • गाइडलाइंस देखने हेतु आपको मत्स्य संपदा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Guidelines के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब इसपर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको विभिन्न प्रकार की गाइडलाइंस प्राप्त होंगी
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार इच्छुक गाइड लाइन पर क्लिक कर सकते हैं।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुलकर आएगी।
  • इस फाइल को आप डाउनलोड के बटन पर क्लिक करके डाउनलोड भी कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *