Taleban ने Afghanistan के दूसरे सबसे बड़े शहर पर जमाया कब्जा: अफगानिस्तान (Afghanistan) में जारी खूनी संघर्ष के बीच तालिबान (Taliban) को अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। तालिबान ने शुक्रवार को कंधार (Kandahar) पर कब्जा कर लिया है। तालिबान ने दावा किया कि उसने एक और प्रांतीय राजधानी कंधार पर कब्जा कर लिया है। अब सिर्फ राष्ट्रीय राजधानी काबुल उससे बची हुई है। बता दें कि काबुल के बाद कंधार ही अफगानिस्तान का दूसरा सबसे बड़ा शहर है।

Taleban ने Afghanistan के दूसरे सबसे बड़े शहर पर जमाया कब्जा

Taleban ने Afghanistan के दूसरे सबसे बड़े शहर पर जमाया कब्जा

तालिबान ने काबुल से महज 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित लोगार प्रांत की राजधानी पर कब्जा जमा लिया। इससे अफगानिस्तान पर तालिबान का शासन जल्दी ही कायम होने की आशंकाएं बढ़ गई हैं। अफगानिस्तान के सांसद सईद करीबुल्लाहह सादात ने कहा, ‘अब तालिबान ने 100 फीसदी नियंत्रण जमा लिया है। अब फाइटिंग मोमेंट जैसी बात भी यहां नहीं रह गई है। ज्यादातर अधिकारियों ने भागकर काबुल में शरण ली है।’

इसे भी पढ़ें: Mahindra New Logo Launch: महिंद्रा XUV700 SUV नए लोगो के साथ जल्द होगा लॉन्च, जानिए इस कार का फीचर्स

अमेरिकी सेना की वापसी के बाद से तालिबान (Taliban) पूरी ताकत के साथ कब्जा जमाने की कोशिश में लगा है। वो अब तक कई इलाकों पर कब्जा कर चुका है। कंधार फतह करने से पहले गुरुवार को तालिबान ने दो और प्रांतीय राजधानी गजनी और हेरात पर कब्जा कर लिया था। इस तरह से आतंकवादी संगठन अब तक 12 प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा कर चुका है। अब उसका अगला टारगेट राजधानी काबुल है।

इन तमाम इलाकों पर तालिबान का कब्ज

Taleban ने Afghanistan के दूसरे सबसे बड़े शहर पर जमाया कब्जा

तालिबान आतंकियों ने अब तक जरांज, शेबरगान, सर-ए-पुल, कुंदुज, तालोकान, ऐबक, फराह, पुल ए खुमारी, बदख्शां, गजनी, हेरात और कंधार पर कब्जा कर लिया है। जबकि लश्कर गाह में अभी भी भीषण लड़ाई जारी है। वहीं, तालिबान के तेजी से बढ़ते कदम को देखते हुए अफगान सरकार समझौते की बात भी कर रही है। माना जा रहा है कि राष्ट्रपति सत्ता के बंटवारे जैसा कोई फैसला ले सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: ऐसे 10 ट्रांजैक्शन करने पर घर आएगा Income Tax का नोटिस, जल्द हो जाए सावधान

अमेरिका काबुल में दूतावास से कुछ और कर्मियों को वापस लाने के लिए अतिरिक्त सैनिक भेजने वाला है। इसकी जानकारी एक अधिकारी ने दी है। अधिकारी ने बताया कि ये सैनिक अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों की वापसी में मदद करेंगे। पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने घोषणा की कि अमेरिकी रक्षा विभाग काबुल से एंबेसी के कर्मचारियों को निकालने के लिए अफगानिस्तान में सेना भेजेगा। उन्होंने कहा अगले 24-48 घंटों में काबुल हवाई अड्डे पर 3 बटालियनों को ट्रांसफर किया जाएगा, जिनमें लगभग 3,000 सैनिक होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.