Artificial Womb Facility: जिस हिसाब से दुनियाभर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) पर बहस चल रही है, एक दिन तो ये होना ही था। फेसबुक, एपल, टेस्ला, माइक्रोसॉफ्ट, गूगल सहित दुनिया की बड़ी से बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के काम में लगी हैं। अब तो ये भी खबर आई है कि बच्चे को कोख में पालने का चक्कर खत्म हो जाएगा। जो लोग मशीन के जरिए अपना बच्चा पैदा करना चाहते हैं, वो ऐसा कर सकते हैं। जी हां, ये वाकई दुनिया को चौंकाने वाली खबर है। बच्चे को आर्टिफिशियल गर्भाशय में पाला जाएगा और भ्रूण से लेकर पैदा होने तक की पूरी देखरेख मशीन के जरिए होगी।

आर्टिफिशियल कोख में कैसे पैदा होंगे बच्चे?Artificial Womb Facility in hindi

Artificial Womb Facility

आर्टिफिशियल कोख से बच्चा पैदा करने का दावा एक्टोलाइफ नाम की एक कंपनी ने किया है। कंपनी ने बाकायदा एक वीडियो जारी करके बताया है कि अब ऐसा करना मुमकिन है। अगर किसी महिला के यूट्रस (बच्चेदानी) नहीं है या किसी गंभीर बीमारी के कारण इसे निकलवाना पड़ा है, अब वह मां बन सकेंगी ।

ऐसे ही, अगर किसी पुरुष को इनफर्टिलिटी की समस्या है और कोई महिला मां नहीं बन पा रही तो इस तकनीक का सहारा लिया जा सकता है। इसका तकनीक का पूरा नाम है आर्टिफिशियल गर्भाशय फैसिलिटी। एक्टोलाइफ कंपनी का दावा है कि ये दुनिया की पहली आर्टिफिशियल कोख की तरह काम करेगा।

इसे भी पढ़ें: Dry lips home remedies | 5 मिनट में फटे होठों से ऐसे पाएं छुटकारा, जानिए होंठ फटने का कारण और उपाय

आर्टिफिशियल गर्भाशय फैसिलिटी का डिजाइन

कंपनी का दावा है कि इस टेक्नोलॉजी के जरिए बच्चा इन्फेक्शन फ्री पैदा होता है। एक्टोलाइफ के पास हाई इक्विपमेंट वाली 75 लैब हैं। हर लैब में 400 ग्रोथ पॉड्स हैं, जहां गर्भ की तरह बच्चे पल सकते हैं। हर पॉड्स को बिल्कुल उसी तरह डिजाइन किया गया है, जैसा कि मां के पेट में यूट्रस (गर्भाशय) होता है। इन पोड्स को आर्टिफिशियल यूट्रस इसीलिए कहा गया है क्योंकि यह बिल्कुल मां के पेट जैसा अनुभव बच्चों को कराता है।

इसे भी पढ़ें: व्हे प्रोटीन क्या है और यह कैसे बनता है , जानिए व्हे प्रोटीन के फायदे और नुकसान

ग्रोथ पॉड्स क्या है?

ग्रोथ पॉड्स मशीन से जुड़ी एक बच्चेदानी है। ग्रोथ पोड के भीतर बच्चे के वाइटल साइन- यानी उसकी स्किन, धड़कन, टेंपरेटर, हर्टबीट, ऑक्सीजन लेवल, ब्लड प्रेशर, ब्रीथिंग रेट, दिल, दिमाग, किडनी, लिवर और शरीर के बाकी अंगों को रियल टाइम मॉनिटर करने के लिए सेंसर लगाए गए हैं। इसके जरिए आप बच्चे से जुड़ी सारी जानकारी हासिल कर सकते हैं। इसके अलावा मां-बाप को बच्चों का रियल अनुभव कराने के लिए एक ऐप तैयार की गई है, जिसमें वह हर चीज लाइव देख सकते हैं कि बच्चे की ग्रोथ कैसी हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *