Indian Railways New Rules: अब ट्रेन में सोने को लेकर भी सरकार ने नया नियम बनाया है। हाल ही में रेलवे ने एक नया नियम बनाया है जिसे जानना आपके लिए बहुत जरुरी है मोबाइल पर गाने सुनने के अलावा कई शिकायतें ऐसी भी रेलवे को मिली थीं कि Train में लोग ग्रुप में बैठकर ऊंची आवाज में बातें करते हैं और हंसी मजाक करते हैं। वहीं इसके अलावा लाइट जलाने और बुझाने को लेकर भी कई बार विवाद हुआ है। इसी के चलते Railway Ministry ने ये नये नियम बनाए हैं। यहां जान लीजिए नयी गाइडलाइन वरना देना पड़ सकता है जुर्माना

Indian Railways New Rules 2022

Indian Railways New Rules

  • अगर आप रेल में यात्रा करने वाले हैं तो ये नियम आपके लिए जानना बहुत ही जरुरी है वरना आपको जुर्माना देना पड़ सकता है।
  • दरअसल रेलवे यात्रियों की सहूलियतों को देखते हुए अक्सर नियम बनाता रहता है।
  • इसके पहले रेलवे ने कोरोना को लेकर नयी गाइडलाइन जारी की थी। लेकिन अब रेलवे ने यात्रियों की नींद में कोई ख़लल न पड़े और वो यात्रा के दौरान चैन से नींद ले सकें इसके लिए नियम बनाया है।
  • वैसे तो ये यात्रियों के लिए एक अच्छा नियम है जिसकी मदद से आप रेल में अच्छे से सो सकते है तो चलिए अब हम इस नियम पर लगाते हैं।

इसे भी पढ़ें : Bihar Land Registration Process 2022 | बिहार में अब जमीन रजिस्ट्री कराना हुआ बेहद आसान, रजिस्ट्री कराने पर नहीं लगेगा पैसा, सरकार ने इन नियमों को किया निशुल्क

Indian Railways New Rules 2022 रेल में नींद को लेकर है ये नियम

  • इस नये नियम के मुताबिक अब आपकी सीट, कंपार्टमेंट या कोच में कोई भी पैसेंजर तेज आवाज में मोबाइल पर बात नहीं कर सकता और न ही वह ऊंची आवाज में गाने सुन सकता है।
  • दरअसल यात्रियों द्वारा की गयी इस तरह की कई शिकायतों के बाद रेलवे ने यह नियम बनाया।
  • अब इससे किसी यात्री की नींद में कोई परेशानी नहीं होगी ।
  • इतना ही नहीं अगर कोई व्यक्ति इन नियमों की अवहेलना करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई का भी प्रावधान है।
  • यानि अब आप ट्रेन में चैन की नींद सो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: Benefits of shikanji | शिकंजी पीने से शरीर में मिलने वाले फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान | जानिए गर्मियों में शिकंजी पीने का सही वक्त   

नियम तोड़ने पर होगी कार्रवाई

हालांकि, अगर कोई इन नियमों की अवहेलना करता है या इन्हें तोड़ता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई का भी प्रावधान है। जिसका मतलब अब आप ट्रेन में चैन की नींद सो सकते हैं। यहह सुनिश्चित करने के लिए कि यात्रियों को कोई असुविधा न हो, आरपीएफ, टिकट चेकर्स, कोच अटेंडेंट और कैटरिंग सहित ट्रेन के कर्मचारियों की जिम्मेदारी होगी कि वे यात्रियों को व्यवस्था और सभ्य सार्वजनिक व्यवहार बनाए रखने के लिए कहें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.