एमबीबीएस करने के लिए सबसे अच्छा देश Best country for MBBS abroad in hindi  : मेडिकल का क्षेत्र करियर के सबसे लोकप्रिय ऑप्‍शन में से एक है। हर मां-बाप अपने जीवन में एकबार जरूर सोचता है कि उसका बेटा-बेटी डॉक्‍टर बनें, हालांकि आज के समय में यह आसान नहीं है। एमबीबीएस की डिग्री प्राप्त करना डॉक्टर बनने की यात्रा का पहला कदम है, लेकिन इस पहले कदम को उठाने की हिम्‍मत ही कोई सामान्‍य परिवार नहीं कर सकता। क्‍योंकि भारत में मेडिकल सीट प्राप्त करना इतना आसान नहीं है उपलब्ध सीटों की संख्या और आवेदकों की संख्या के बीच अंतर के कारण, भारत में एमबीबीएस प्रवेश के लिए यह प्रतियोगिता बढ़ रही है।

वहीं प्राइवेट कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई करने में करोड़ों रुपए खर्च हो जाते हैं, इसलिए छात्र विदेश( Best country for MBBS abroad )  में एमबीबीएस कोर्स का विकल्प चुनते हैं, जहां पर सस्‍ती और अच्‍छी एजुकेशन मिलती है।

एमबीबीएस करने के लिए सबसे अच्छा देश- Top 5 countries for best medical education in hindi

एमबीबीएस करने के लिए सबसे अच्छा देश

जर्मनी एमबीबीएस के लिए सबसे अच्छा देश

एमबीबीएस के लिए जर्मनी की यूनिवर्सिटी पूरी दुनिया की टॉप मेडिकल यूनिवर्सिटी में शामिल हैं। ये यूनिवर्सिटी बेहतरीन शिक्षा, आधुनिक उपकरण और गतिशील वातावरण के लिए जानी जाती हैं। इन्हें विश्व स्वास्थ्य संगठन, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया और यूनाइटेड नेशनल ऑर्गनाइजेशन जैसे विभिन्न संगठनों द्वारा मान्यता दी गई है। यहां पर छात्र 25 से 30 लाख में अपनी एजुकेशन अच्छे से पूरी कर सकते हैं।

रूस एमबीबीएस के लिए सबसे अच्छा देश 

एक व्यापक कोर्स प्रदान करने के अलावा, रूस में चिकित्सा विश्वविद्यालय अंग्रेजी और रूसी दोनों भाषाओं में एमबीबीएस कोर्स भी प्रदान करते हैं और छात्रों को एमसीआई स्क्रीनिंग टेस्ट के लिए प्रशिक्षित करते हैं। इसके अलावा, अन्य देशों की तरह, रूस में एमबीबीएस का अध्ययन करने के लिए एक व्यक्ति को एनईईटी परीक्षा उत्तीर्ण करने की आवश्यकता होती है।  करीब 4,000 अमरीकी डालर या 2,88,860 प्रति वर्ष की औसत लागत के साथ, एशियाई राष्ट्र तेजी से सीढ़ियां चढ़ रहा है और विदेश में सबसे पसंदीदा अध्ययन चिकित्सा स्थलों में से एक बन गया है।

इसे भी पढ़ें: Jio एक बार फिर लेकर आया है जबरदस्त प्लान 28 दिनों तक डेली 3GB डेटा, अनलिमिटिड कॉलिंग के साथ और भी बहुत कुछ, जानिए इसकी कीमत

किर्गिज़स्तान एमबीबीएस के लिए  सबसे अच्छा देश

एमबीबीएस के लिए किर्गिज़स्तान एक ऐसी जगह है, जहाँ आप 15 से 20 लाख रुपये के भीतर अपना मेडिकल कोर्स पूरा कर सकते हैं, यानी बहुत कम कीमत पर। यह चिकित्सा का अध्ययन करने के लिए सबसे सस्‍ती जगहों में गिना जाता है। विश्वविद्यालय अच्छी बुनियादी सुविधाओं और कम लागत के साथ उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा प्रदान करते हैं। किर्गिस्तान के सभी संस्थानों को एमसीआई द्वारा मान्यता प्राप्त है।

फिलीपींस एमबीबीएस के लिए सबसे अच्छा देश 

एमबीबीएस के लिए फिलीपींस सबसे अच्छा देश एमबीबीएस के लिए है, खासकर भारतीय छात्रों के लिए, फिलिपिंस के नाम को याद नहीं किया जा सकता है।  यह न केवल मध्य पूर्व में बल्कि पश्चिमी देशों में भी चिकित्सा का एक प्रसिद्ध अध्ययन स्थल है। उम्मीदवारों को प्रदान की जाने वाली शिक्षा शीर्ष पायदान पर है।  प्रमुख विशेषताओं में से एक यह है कि शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी है, इस प्रकार, उम्मीदवारों को कोई अतिरिक्त भाषा सीखने की आवश्यकता नहीं है।

चीन एमबीबीएस के लिए सबसे अच्छा देश 

चीन में मेडिकल कॉलेज मुख्य औषधीय विज्ञान के साथ-साथ बायोमेडिकल इंजीनियरिंग सार्वजनिक स्वास्थ्य, दंत विज्ञान, फार्मेसी आदि के क्षेत्रों से अन्य योग्यताएं प्रदान करते हैं। इसके अलावा, चीन एमबीबीएस करने के लिए सबसे अच्छा देश है इसके लिए, उम्मीदवारों के पास कम से कम 60% अंक होना आवश्यक है, साथ ही 12वीं में जीव विज्ञान, भौतिकी और रसायन विज्ञान से किया होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: HTC metaverse phone 2022 | HTC बाजार में इस महीने लॉन्च करेगा अपना ‘मेटावर्स’ फोन, जानिए क्या होगा खास

विदेश में एमबीबीएस की पढ़ाई करने का मुख्य कारण – Best countries for MBBS for Indian student

  • आमतौर पर, मेडिकल कॉलेजों में विदेश में प्रवेश पाने के लिए कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है।
  • विदेशों में मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश पाने के लिए किसी भी तरह की प्रवेश परीक्षा की आवश्यकता नहीं है।
  • छात्र विदेश में सस्ती कीमत पर चिकित्सा शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
  • विश्वस्तरीय अवसंरचना और सुविधाओं की उपलब्धताह भी इसका प्रमुख कारण है कि छात्र विदेश में चिकित्सा अध्ययन करना चाहते हैं।
  • इन देशों में रहने की लागत कम है।
  • विदेशों में कई चिकित्सा विश्वविद्यालय शिक्षा के माध्यम के रूप में अंग्रेजी भाषा का उपयोग करते हैं। इससे छात्रों के लिए पाठ्यक्रम का अध्ययन करना आसान हो जाता है।
  • विदेश में एमबीबीएस की पढ़ाई करते समय, आपके लिए अंतर्राष्ट्रीय शिक्षण और कार्य प्रदर्शन प्राप्त करने के कई अवसर हैं।
  • आपको विदेशों में शीर्ष चिकित्सा विश्वविद्यालयों में विभिन्न देशों, पृष्ठभूमि और जातीयता से आने वाले छात्रों के साथ बातचीत करने का मौका भी मिल सकता है।

FAQ:

Q: क्या नेपाल से एमबीबीएस भारत में मान्य है?

Ansहां, नेपाल से एमबीबीएस भारत में मान्य है। नेपाल में MBBS के पाठ्यक्रम को हमारे भारत देश के National medical commission के द्वारा मान्यता दी हुई है। लेकिन नेपाल से एमबीबीएस करने के बाद भारत में प्रैक्टिस करने के लिए विद्यार्थी को नेशनल मेडिकल कमीशन द्वारा ली जाने वाली medical screening test पास करना जरूरी होता है।

Q: नेपाल में एमबीबीएस की कितनी फीस है?

Ans: प्रवेश परीक्षा के लिए 8000 नेपाली रुपये की फीस निर्धारित है।

Q: क्या विदेश में एमबीबीएस के लिए NEET जरूरी है?

Ans: भारतीय चिकित्सा परिषद ने भारत और विदेशों में कहीं भी चिकित्सा कोर्सेज में आवेदन करने के लिए नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट, NEET प्रवेश परीक्षा अनिवार्य कर दी है। NEET प्रवेश परीक्षा एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो हर राज्य में उन छात्रों के लिए आयोजित की जाती है जो भारत और विदेशों में कॉलेजों में मेडिकल और डेंटस्टरी कोर्स करना चाहते हैं। NEET प्रवेश परीक्षा दुनिया भर के टॉप मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश पाने के लिए एक मानदंड के रूप में कार्य करती है। इस प्रकार, भारतीय छात्र जो किसी विदेशी देश से एमबीबीएस करना चाहते हैं, उन्हें NEET परीक्षा के लिए क्वालीफाई करने की आवश्यकता होती है।

Q: विदेश से एमबीबीएस करने के बाद क्या करें?

Ans: MBBS कोर्स में एडमिशन लेने के बाद कुल 10 सालों के भीतर परीक्षा पास करनी जरूरी होती है। यूक्रेन या रूस में MBBS कोर्स की औसतन अवधि 6 साल की है। इसके बाद छात्रों को 12 महीने की इंटरर्नशिप अपने कॉलेज से पूरी करनी होती है और 12 महीने की इंटर्नशिप भारत लौटने के बाद करनी होती है। इसे मिलाकर 8 साल का समय पूरा हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.