दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 का नया वेरिएंट (New Corona Variant) सामने आने के बाद महाराष्ट्र और गुजरात में नए सिरे से निर्देश जारी किए गए हैं। दक्षिण अफ्रीका से मुंबई में आने वाले सभी यात्रियों को आइसोलेशन में रहना होगा। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा ‘खतरे’ की श्रेणी में डाले गए देशों से आने वाले यात्रियों को गुजरात पहुंचने के बाद कोविड-19 संक्रमण की जांच करवानी होगी।

कोरोना के नए वेरिएंट के चलते हुआ फैसला 

New Corona Variantमुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका से मुंबई आने वाले सभी यात्रियों को आइसोलेशन में रहना होगा। उन्होंने बताया कि इन यात्रियों के नमूने जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजे जाएंगे। पेडनेकर ने कहा कि यह निर्णय दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 के नए स्वरूप ओमिक्रोन के सामने आने के बाद लिया गया क्योंकि इस स्वरूप के ज्यादा संक्रामक होने की आशंकाएं हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की पिछली लहर पर कंट्रोल में आई कठिनाई के अनुभवों के आधार पर यह निर्णय लिया गया है।

इसे भी पढ़ें: भारत सरकार ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स को दी मंजूरी, इस तारीख से शुरू होगी

New Corona Variant गुजरात में जारी हुए ये निर्देश

वहीं गुजरात राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) मनोज अग्रवाल ने कहा, ‘केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एक पत्र के अनुसार, आने वाले जिन यात्रियों के पास वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट नहीं होगा उनके लिए आरटी पीसीआर जांच करवाना अनिवार्य होगा।’ अग्रवाल ने कहा कि जिन्हें टीके की दोनों खुराक मिल चुकी हैं, हवाई अड्डे पर उनकी भी जांच होगी और संक्रमण के लक्षण नहीं दिखने पर उन्हें एंट्री दी जाएगी। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड और जिम्बाब्वे को ‘खतरे’ की श्रेणी में रखा गया है। गुजरात में दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं अहमदाबाद और सूरत में।

इसे भी पढ़ें: Corona Third Wave | नए कोरोना वेरिएंट के अब तक मिले इतने मामले, 53 देशों में खतरे की घंटी

गुजरात मे केंद्रीय गृह मंत्रालय के 11 नवंबर के दिशा निर्देशों का पालन करने को कहा गया है। दिशा निर्देशों में कहा गया है कि ‘खतरे’ की श्रेणी वाले देशों से आने वाले यात्रियों ने टीके की दोनों खुराक ली है तो उन्हें आगमन के बाद 14 दिन तक आइसोलेशन में रहना होगा। टीके की एक खुराक ले चुके यात्रियों या एक भी खुराक नहीं लेने वाले यात्रियों को कोविड-19 जांच के लिए नमूने देने होंगे। ऐसे यात्रियों को घर पर सात दिन के लिए आइसोलेशन में रहना होगा और भारत पहुंचने के आठवें दिन एक और जांच करानी होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *