नई दिल्ली: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने सभी पेंशन धारकों के लिए एक राहत भरी खबर सुनाई है। ईपीएफओ (EPFO) ने अपने सभी पेंशन धारकों के लिए डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की समय सीमा 3 महीने बढ़ा दी है। अव पेंशनधारक जीवन प्रमाण पत्र 28 फरवरी 2021 तक जमा कर सकते हैं। इससे 35 लाख पेंशनधारकों के फायदा होगा।

 

ऐसा बताया जा रहा है कि भविष्य निधि संगठन द्वारा यह फैसला इसलिए लिया गया है, कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। ताकि बुजुर्ग आबादी वाले लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया गया है। ईपीएफओ (EPFO) द्वारा लिए गए। इस फैसले से बुजुर्ग पेंशन धारकों को थोड़ा राहत मिलेगा। ताकि वह अपना जीवन प्रमाण पत्र 28 फरवरी तक जमा कर सकें।

आपको बता दें कि सभी पेंशन धारकों को हर महीने पेंशन लेने के लिए हर साल यह जन्म प्रमाण पत्र जमा करना होता है। ये योजना 1995 से लागू की गई। जिसको पहले नवंबर माह में जमा कर देना अनिवार्य था, पर अब करोना को देखते हुए इसमें कुछ महीने की छूट दी गई है।

आइए जानते हैं ऑनलाइन जेपीपी जमा करने का तरीका

अगर पेंशन धारक चाहे तो ऑनलाइन भी जेपीपी भी जमा कर सकते हैं। वह अपने मोबाइल में उमंग (UMANG) एप्स डाॅनलोड कर उस पर अपना डिजिटल जन्म प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। इसमें जन्म प्रमाण पत्र जमा करना बेहद आसान होता है। आपको यह भी बता दें कि अगर किसी ने नवंबर में अपना जीवन प्रमाण पत्र जमा नहीं किया है, तो उसे घबराने की बिल्कुल जरूरत नहीं है। उसको पेंशन मिलती रहेगी।

पेंशनधारक जीवन प्रमाण पत्र को कई जगहो पर जमा कर सकते हैं। जिनमें 3.65 लाख कॉमन सर्विस सेंटर बनाए गए हैं। जहां जीवन प्रमाण पत्र जमा किया जा सकता है। वहीं पेंशन धारक जिस बैंक द्वारा अपना पेंशन लेते हैं। उस बैंक में भी सर्टिफिकेट जमा किया जा सकता है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के 135 क्षेत्रीय कार्यालयो और 117 जिला कार्यालयो और देशभर में फैले 3.65 लाख से सेंटर पर जाकर जमा कर सकते हैं। इसमें 1.90 लाख पोस्टमैन के पोस्टर नेटवर्क और ग्रामीण डाक सेवा शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *