Kidney stone pain: किडनी हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। इसका काम ब्लड को फिल्टर करना होता है। किडनी द्वारा ब्लड फिल्टरेशन के दौरान सोडियम, कैल्शियम और अन्य दूसरे मिनरल्स बारीक कणों के रूप में यूरेटर के माध्यम से ब्लैडर तक पहुंचते हैं, जो यूरिन के जरिए शरीर से बाहर निकल जाते हैं। अगर इसमें किसी भी तरह का डैमेज होता है तो इंसान को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन्हीं में से एक है किडनी में स्टोन होना है जो इन दिनों एक आम बीमारी है।

किडनी स्टोन क्या होता है – kidney stone Pain kya hai in Hindi

Kidney stone pain

किडनी स्टोन यानी गुर्दे की पथरी नमक और मिनिरल्स से बनी एक हार्ड पत्थर जैसी होती है जो शुरुआत में तो एक छोटे दाने जितनी हो सकती है लेकिन आगे चलकर बड़ी समस्या बन सकती है। किडनी स्टोन की समस्या होने पर पीड़ित व्यक्ति के शरीर में उसके यूरिन के रास्ते से लेकर ब्लैडर को प्रभावित कर सकती है। अगर किसी व्यक्ति का स्टोन किडनी से निकलकर यूरेटर में फंस जाता है तो उसे बहुत तेज दर्द होता है जोकि आपके लिए  खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में आइए जानते हैं किडनी स्टोन की शुरुआत होने पर शरीर में क्या लक्षण दिखाई देते हैं।

किडनी स्टोन के लक्षण हिंदी में – kidney stone ke lakshan

  • अचानक कमर या पेट में बहुत तेज दर्द होना किडनी में स्टोन होने का संकेत हो सकता है।  ज्यादातर यह दर्द पसलियों के नीचे होता है।
  • यदि आपके यूरिन में दिक्कत हो रही है तो यह भी किडनी स्टोन का संकेत हो सकता है। किडनी स्टोन होने पर व्यक्ति को पेशाब करते समय ( Kidney stone pain) तेज दर्द या जलन महसूस होती है।
  • किडनी स्टोन( kidney stone symptoms ) का सबसे बड़ा लक्षण पेशाब में खून आना हो सकता है। ऐसे में पेशाब में खून आने पर तुरंत डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए।
  • बार-बार उल्टी आना भी किडनी स्टोन की ओर इशारा कर सकता है।
  • यदि आपको तेज बुखार के साथ कंपकपाने वाली सर्दी सी लग रही है तो यह भी किडनी में पथरी होने का संकेत है।
  • पथरी कई बार यूरेटर में फंस जाती है जिससे पेशाब बहुत कम और बार-बार आता है। अगर आपके साथ ही ऐसा हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।
  • अगर आपके हाथ-पैरों मे सूजन हो गए हैं तो यह भी पथरी का लक्षण हो सकता है।
  • जल्दी थकान होना भी किडनी की बीमारी का आम लक्षण हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल को बिना किसी दवाई के 3 दिन में जड़ से करें खत्म , जानिए कोलेस्ट्रोल बढ़ने का मुख्य कारण

पथरी होने पर कौन सा फल खाएं-kidney stone treatment

Kidney stone pain

किडनी में स्टोन से बचने के लिए इन सभी फलों का सेवन पर्याप्त मात्रा में अवश्य करें।

पानी वाले फल खाएं

पानी से भरपूर फल जैसे कि नारियल पानी, तरबूज और खरबूज आदि खाएं। दरअसल, ये पथरी को पिघलाने में मदद करता है और इसे पेशाब के रास्ते बाहर निकालने में भी मदद करता है। इसलिए आपको ज्यादा से ज्याद पानी वाले फल का सेवन करना चाहिए। आप इन्हें सीधे खा सकते हैं या फिर इनका जूस बना कर पी सकते हैं।

खट्टे फलों का सेवन करे

खट्टे फल विटामिन सी से भरपूर होते हैं जो पथरी को पिघलाता है। खट्टे फलों और जूस में साइट्रिक एसिड होता है। इसका साइट्रेट  कैलशियम से बंध कर पथरी के निर्माण को रोकता है, जिससे यह ऑक्सालेट से बंध नहीं पाता और पथरी बन जाता है। ऐसे में आपको साइट्रिक एसिड से भरपूर फल संतरा, मौसंबी, अमरूद और अंगूर का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए।

कैल्शियम से भरपूर फलों का सेवन करे

कैल्शियम से भरपूर फलों का सेवन पथरी में फायदेमंद है। ऐसे में कई बार उच्च कैल्शियम वाले खाद्य पदार्थों और सामान्य डेयरी सेवन से कैल्शियम पथरी बनने के आपके जोखिम को कम कर सकता है। इसके अलावा आप कुछ कैल्शियम से भरपूर फल खा सकते हैं, जैसे कि जामुन, कीवी, अंजीर और काले अंगूर खाएं।

किन खाद्य पदार्थों से किडनी स्टोन्स (गुर्दे की पथरी) होती है? Kidney stone avoid food

  • किडनी की पथरी से बचने के लिए शायद सबसे आदर्श दृष्टिकोण एक्सोरबिटेंट नमकीन पोषण, मीट और अन्य प्राणी प्रोटीन (  kidney stone foods to avoid ) से बचना है।
  • कैल्शियम ऑक्सालेट खाद्य पदार्थों से बचने के लिए क्योंकि आपके पेशाब में कैल्शियम ऑक्सालेट के साथ मिलकर ऐसे पत्थरों का निर्माण करता है।
  • कोको पाउडर, मीठे आलू, बादाम और काजू, त्वचा के साथ बेक्ड आलू, फ्रेंच फ्राइज़, रास्पबेरी और ओकरा जैसे उच्च कैल्शियम ऑक्सालेट खाद्य पदार्थ लेने से बचें।
  • नमक खाने से मूत्र में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है। इसलिए अपने फास्ट फूड, मसालों, डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों और पैकेज्ड मीट kidney stone causes का कारण बन सकती है इसलिए इसको सीमित करें।
  • सबसे दूर बिंदु प्रोटीन, उदाहरण के लिए, चेडर, मछली, मांस, सूअर का मांस, अंडे, क्योंकि वे किडनी की पथरी के अधिकांश प्रकार के बाधाओं को बढ़ा सकते हैं।
  • न्यूट्रिएंट सी में शरीर को ऑक्सालेट बनाने का झुकाव होता है। तो, एक दिन में केवल 500 मिलीग्राम विटामिन सी लें।

इसे भी पढ़ें: Protein vegetarian diet chart in hindi | शाकाहारी लोग डाइट में इन टॉप 10 वेजिटेरियन प्रोटीन डाइट चार्ट को शामिल करें ,कभी नहीं होगी प्रोटीन की कमी

Best vitamin for women in hindi | औरतों की सेहत के लिए बेहद जरूरी है यह विटामिंस , चेहरे को सुंदर बनाने के लिए इन विटामिंस का करें उपयोग

FAQ:

Q: किडनी स्टोन का पता कैसे चलता है? Kidney stone pain

Ans: किडनी स्टोन के लक्षणों में पेट या कमर में दर्द, बुखार, पसीना, तेज दर्द जो आता-जाता रहता है, उल्टी महसूस होना, यूरीन में रक्त, यूरीन में संक्रमण आदि शामिल हैं। कुछ मामलों में, किडनी स्टोन यानी पथरी यूरेटर (एक ट्यूब जो किडनी को ब्लैडर से जोड़ती है) को ब्लॉक भी कर देती है।

Q: किडनी में पथरी का दर्द कहाँ होता है? Where Kidney stone pain
Ans: किडनी में पथरी होना बेहद दर्दनाक होता है। ऐसी स्थिति में मरीज को तेज दर्द होता है जो कि कई बार असहनीय हो जाता है। किडनी में पथरी होने पर दर्द(  Kidney stone pain )पेट के निचले हिस्से में होता है।
Q: पथरी की पहचान क्या है? Kidney stone symptoms
Ans: पथरी की वजह से जो सबसे आम लक्षण उभरते हैं वो है पेट या उसके निचले हिस्से में दर्द का होना जो कमर तक बढ़ सकता है। पत्थर निकालते समय दर्द का होना सबसे आम है। इसमें गंभीर कष्टदायी दर्द की लहरें भी उठतीं हैं जिसे ‘वृक्क शूल’ कहा जाता है जो 20-60 मिनट तक रहता है। पेशाब करने में कठिनाई, मूत्र में रक्त या उल्टी हो सकती है।
Q: कितने mm की पथरी निकल जाती है?

Ans: विशेषज्ञों के अनुसार बताया गया है कि 5 एमएम तक की पथरी है तो बिना ऑपरेशन के भी बाहर निकल सकती है, लेकिन उसके लिए सही इलाज और पानी का खूब सेवन जरूरी है। 6.5 एमएम से ज्यादा बड़ी पथरी का बिना ऑपरेशन बाहर निकलना संभव नहीं होता, जब तक वह टुकड़ों में न टूटे।

Q: सबसे बड़ी पथरी कितने एमएम की होती है?

Ans: सबसे बड़ी पथरी 21 एमएम की होती है।
Q: गुर्दे की पथरी कैसे बनते हैं? Kidney stone ke lakshan
Ans: जब मूत्र में कैल्शियम, ऑक्सालेट, यूरिक एसिड और सिस्टीन जैसे कुछ पदार्थों का कंसंट्रेशन बढ़ने लगता है, तो वे गाढ़े होकर क्रिस्टल बनाने लगते हैं जो गुर्दे से जुड़ने लगते हैं और धीरे-धीरे आकार में बढ़ कर पथरी का रूप लेने लगते हैं।
Q: पथरी का दर्द कितने देर तक रहता है? Kidney stone pain
Ans: जब पथरी मूत्रमार्ग की तरफ जाती है तो दर्द पेट के निचले हिस्से और पेढ़ू-जांघ जोड़ तक पहुंच जाता है। ये दर्द आमतौर पर 5-15 मिनट तक रहता है।
Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। फास्ट खबरें इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है इनके इस्तेमाल से पहले  डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.