Benefits of pillow : आपने कई बार देखा होगा कि प्रेगनेंसी के समय महिलाएं अपने पैरों के नीचे तकिया (keeping pillow under legs) लगा कर सोती हैं। लेकिन क्या आपने सोचा है कि वो ऐसा क्यों करती हैं? दरअसल, सोते समय पैरों के नीचे तकिया लगा कर सोने से आपके शरीर किसी एक भाग पर भार नहीं पड़ता और वजन पूरे शरीर में समान रूप से बंट जाता है। इससे पैरों की सूजन कम होती है और कमर पर भी ज्यादा बोझ नहीं पड़ता है। प्रेगनेंसी में ये दोनों ही चीजें यानी कि पैरों में सूजन और कमर दर्द परेशान करता है और यह तरीका तब काफी कारगर होता है।

लेकिन, ये तरीका सिर्फ प्रेगनेंट महिलाओं के लिए ही फायदेमंद नहीं है बल्कि, हर किसी के लिए फायदेमंद है। दरअसल, सोते समय पैरों के नीचे तकिया लगाने से शरीर को कई फायदे मिलते हैं। साथ ही ये कई रोज की छोटी-छोटी समस्याओं जैसे कि पैरों में दर्द और कमर दर्द में काम आ सकता है। आइए जानते हैं कैसे

सोते समय पैरों के नीचे तकिया लगाने के 6 फायदे- Benefits of keeping pillow under legs in hindi

पैरों की सूजन कम होती है- Benefits of pillow

Benefits of pillow

अगर आपको किसी भी कारण से पैरों में सूजन हो तो ये तरीका काफी कारगर तरीके से काम करता है। जैसे कि अगर किसी के पैरों में थकान के कारण सूजन है, वैरिकोज वेन्स की समस्या है फिर मांसपेशियों के कारण सूजन है। इन तमाम प्रकार से सूजन में ऐसे पैर रख कर सोने से आप बेहतर महसूस कर सकते हैं। ये पैरों में फ्यूट रिटेंशन को कम करती है और पैरों की सूजन दूर करती है।

इसे भी पढ़ें: चेहरे पर दिखने वाली झाइयों को इन घरेलू नुस्खों से करें दूर , 15 दिनों में बेदाग नजर आएगी आपकी त्वचा

साइटिका के दर्द को कम करने में मदद मिलेगी

Benefits of pillow

साइटिका तंत्रिका का एक टकराव है जो आमतौर पर आपके नितंबों और आपके पैर के पिछले हिस्से में दर्द पैदा करता है। ऐसी स्थिति में सोने से आपकी पीठ के निचले हिस्से और कूल्हों में मरोड़ हो सकती है, जिससे तंत्रिका को और अधिक संकुचित करके साइटिका का दर्द बढ़ सकता है। ऐसे में  ( Benefits of pillow )पैरों के नीचे तकिया लगा कर सोने से आप दर्द से राहत पा सकते हैं।

डिस्क पेंन को कम कर सकता है – Benefits of pillow

Benefits of pillow

डिस्क पेंन में रीढ़ की हड्डी के अत्यधिक घुमाव से आपकी रीढ़ की हड्डी पर दबाव से दर्द हो सकता है। ऐसे में पैरों के नीचे तकिया लगा कर सोने से आप इस दर्द से राहत पा सकते हैं। दरअसल, इससे आपकी डिस्क पर कोई दवाब नहीं पड़ेगा और दर्द से राहत महसूस करेंगे।

इसे भी पढ़ें: वैरिकोज वेन्स (उभरी नीली नसों) को ठीक करने के लिए घरेलू उपचार, जानिए इसके होने का मुख्य कारण

ब्लड सर्कुलेशन को सही करता है

पैरों के नीचे तकिया रखकर सोने से रक्त प्रभाव बढ़ता है। जब आप तकिया को दोनों पैरो के नीचे में रखकर सोते है तो इससे आपकी नसों पर दबाव नहीं पड़ता है। आपने ध्यान दिया होगा कई बार जब सोकर सुबह उठते हैं तो हाथों पैरों में अकड़न आ जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रक्त का संचार अच्छे से नहीं हो पाता। इसलिए तकिया को दोनों पैरो के बीच में रखकर सोने से आपके शरीर में रक्त का संचार सुचारू रूप से होता है। कई बार हमारे गलत सोने के तरीके से हृदय की

प्रेग्नेंसी के दौरान आरामदायक

Benefits of pillow

प्रेगनेंट महिलाओं को हमेशा एक तरफ पैरों के बीच तकिया रखकर सोने की सलाह दी जाती है। पैरों के बीच तकिया रखकर सोने से रक्त का संचार शिशु तक अच्छे से पहुंचता है। ऐसे में गलत पोजिशन में लेटने से आपके पेट की नसों पर दबाव पड़ता है और आपको दर्द भी हो सकता है। इसलिए ऐसे समय में आरामदायक आसन में ही सोना चाहिए और पैरों के बीच (Benefits of pillow)तकिया रखकर सोने से ज़्यादा आरामदायक और कुछ नहीं होगा। ऐसा करने से बच्चे का भी स्वास्थ्य सुरक्षित और आरामदायक अवस्था में रहता है।

इसे भी पढ़ें: गेहूं के अलावा इस आटे की रोटी खाने से हड्डियां बनेगी मज़बूत, यहां जानिए इसको खाने से मिलने वाले फायदे

पीरियड्स क्रैंप्स से दिलाए राहत

Benefits of pillow

पीरियड्स बहुत ही दर्दनाक होते हैं। शुरूआत के दिनों में पीठ कमर और पेट में महिलाओं को बहुत दर्द होता है। ऐसे में पेट के बल या पीठ के बल सोने में और भी दर्द होता है। इस अवस्था में कई बार महिलाएं दर्द से राहत पाने के लिए गलत पोजिशन में भी लेटती हैं। जिससे यह दर्द और भी बढ़ जाता है। इसलिए पीरियड्स के दिनों में अगर आप पैरों के बीच तकिया रखकर एक करवट लेटती या सोती हैं तो आपके दर्द में बहुत राहत मितली है। इससे आपकी मसल्स पर पड़ने वाला दबाव कम होता है और दर्द से आराम मिलता है।

Disclaimer: दोनों पैरों के नीचे में तकिया लगाकर सोने से आप कई तरह के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। इसलिए स्वस्थ रहने के लिए सही पोजिशन में सोएं और तकिया का सहारा लें। ऐसा करने से आप इस लेख में दी गई सभी समस्याओं से होने वाले दर्द में राहत पा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.