Agnipath Yojana 2022 : देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 14 जून को ‘अग्निपथ’ नाम की योजना शुरू करने की घोषणा की है। इसमें चार साल के लिए सशस्त्र बलों में युवाओं की भर्ती होगी। इस योजना ( Agnipath Yojana in Hindi ) के तहत चुने गए युवाओं को ‘अग्निवीर’ कहा जाएगा और इस साल करीब 46 हजार युवाओं को सहस्त्र बलों में शामिल करने की योजना है। हालांकि केंद्र सरकार की इस घोषणा के बाद से देश के अलग-अलग राज्यों में इसके खिलाफ युवाओं में काफी आक्रोश भी देखने को मिल रहा है। आइए जानते हैं अग्निपथ योजना के बारे में

अग्निपथ योजना क्या है? Agnipath Yojana kya hai

Agnipath Yojana 2022

केंद्र की इस अग्निपथ योजना के तहत इस साल 46 हजार युवाओं को सहस्त्र बलों में शामिल किया जाना है। योजना के मुताबिक इंडियन आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में युवाओं की भर्ती चार साल के लिए होगी और उन्हें ‘अग्निवीर’ कहा जाएगा। आर्मी में सैनिक (जवान), नेवी में नाविक और एयरफोर्स में एयरमैन की जो भर्ती है, वो भर्तियां अब इस योजना के तहत की जाएगी। 4 साल के बाद 75 फीसदी सैनिकों को घर भेज दिया जाएगा और शेष बचे 25 फीसदी अग्निवीरों को स्थायी जवान नियुक्त किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया तय की जाएगी जिसमें ‘अग्निवीर‘ स्थायी होने के लिए आवेदन देंगे। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि भारतीय सेना में शॉर्ट टर्म एग्रीमेंट के आधार पर अग्निपथ योजना के तहत भर्ती किए गए जवानों को राज्य पुलिस की भर्ती में प्राथमिकता दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: Kayakalp Yojana 2022 | ऑपरेशन कायाकल्प क्या है | सरकार के इस कायाकल्प योजना से इन बच्चों को पढ़ाई मे मिलेगी कॉन्वेंट वाली सुविधा

अग्निपथ योजना योग्यता – Agneepath yojana 2022

अग्निपथ योजना सिर्फ जवानों के लिए है। यह योजना अफसरों पर लागू नहीं होगी। सेवा अधिकारी रैंक से नीचे के कर्मियों के लिए यह योजना होगी। नई योजना मौजूदा जवानों की खुली भर्ती की जगह ही लाई गई है। अभी जनरल ड्यूटी के अलावा, क्लर्क, स्टोर कीपर, ट्रेडमैन, नर्सिंग असिस्टेंट जैसे पदों के लिए खुली भर्ती होती है। आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में वर्तमान में जवानों की जो भर्ती प्रक्रिया है, वो नहीं बदलेगी। यानी अग्निवीरों का चयन मौजूदा चयन प्रक्रिया से ही होगा। सेनाओं में अभी शॉर्ट सर्विस कमीशन के जरिए 10 साल के लिए अफसरों की नियुक्ति होती है जिसे 14 साल तक बढ़ाया जाता है। इस व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

अग्निपथ योजना आर्मी आयु सीमा

  • आयु सीमा 17.5 वर्ष से 21 वर्ष वालों को मौका दिया जाएगा।
  • आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में सैनिक स्तर की भर्ती के नियम पुराने वाले ही रहेंगे।
  • जैसे जनरल ड्यूटी (जीडी) सैनिक की भर्ती के लिए शैक्षणिक योग्यता कक्षा 10वीं पास ही रहेगी।
  • अलग-अलग श्रेणियों में 10वीं-12वीं पास युवाओं को मौका मिलेगा।

अग्निपथ स्कीम में कितनी सैलरी मिलेगी – Agnipath scheme 2022

  • इस योजना के तहत हर साल करीब 45 हजार युवाओं को सेना में शामिल किया जाएगा।
  • ये भर्तियां मेरिट और मेडिकल टेस्ट के आधार पर की जाएंगी।
  • चयनित युवाओं को चार साल के लिए सेना में सेवा देने का मौका मिलेगा।
  • इन चार वर्षों में अग्निवीरों को 6 महीने की बेसिक मिलिट्री ट्रेनिंग दी जाएगी।
  • अग्निवीरों को 30 हजार से 40 हजार महीना सैलरी और अन्य फायदे दिए जाएंगे।
  • इस दौरान अग्निवीर तीनों सेनाओं के स्थायी सैनिकों की तरह अवॉर्ड, मेडल और इंश्योरेंस कवर पाएंगे।
  • 48 लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा। अगर सेवा के दौरान शहीद या दिव्यांग हो गए, तो 44 लाख रुपये तक का मुआवजा दिया जाएगा।
  • चार साल पूरे होने के बाद 25 फीसदी को फिर सेना में 15 साल और सेवा करने का मौका मिलेगा।
  • चार साल बाद जो अग्निवीर बाहर होंगे उन्हें सेवा निधि पैकेज के तहत टैक्स फ्री करीब 12 लाख रुपये एकमुश्त मिलेंगे।

इसे भी पढ़ें: PM Matsya Sampada Yojana 2022 | पीएम मत्स्य संपदा योजना क्या है | ऑनलाइन आवेदन लाभ व पात्रता | Form Pdf

अग्निपथ योजना 2022 में कैसे करें आवेदन

  •  90 दिनों में अग्निपथ योजना के तहत 46 हजार भर्तियां निकाली जाएंगी।
  • आर्मी में 40 हजार, एयरफोर्स में 35 हजार और नेवी में 2500 भर्तियां होंगी। देशव्यापी भर्ती प्रक्रिया के जरिये योग्यता के आधार पर अग्निवीरों की भर्ती होगी।
  • अभ्यर्थियों को नई भर्तियों के निकलने की जानकारी इन वेबसाइट्स से मिलेगी, joinindiannavy.gov.in, Careerindianairforce.cdac.in । इसलिए सेनाओं में जाना चाह रहे अभ्यर्थी इन वेबसाइट्स को समय समय पर चेक करते रहें। जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।
  • ऑल इंडिया ऑल क्लास बेस्ड भर्ती होगी।
  • भर्ती रैलियों के तहत भी रहेंगी।
  • एनरोलमेंट के लिए एक ऑनलाइन सेंट्रलाइज्ड सिस्टम विकसित किया जाएगा।
  • मान्यता प्राप्त टेक्निकल इंस्टीट्यूट्स से कैंपस इंटरव्यू के लिए जरिए भी भर्तियां होंगी।

अग्निपथ योजना में महिलाओं को मिलने वाली छूट

Agnipath Yojana 2022

इंडियन आर्मी ( Indian Army ) में हालांकि सिर्फ युवकों को भर्ती का मौका मिलेगा। वायुसेना एवं नौसेना ने ऐलान किया है कि इस योजना के तहत युवतियों को भी अग्निवीर के तौर पर भर्ती किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: {आवेदन } सुरक्षित मातृत्व आश्वासन सुमन योजना 2022 | सुरक्षित मातृत्व आश्वासन योजना क्या है और इसका लाभ कैसे उठाएं

क्या अग्निपथ योजना से भर्ती हुए जवानों को पेंशन मिलेगी

  • पेंशन नहीं मिलेगी। सेवानिधि पैकेज मिलेगा। इस फंड के लिए अग्निवीरों की मासिक सैलरी का 30 फीसदी काटा जाएगा।इतनी ही रकम सरकार जमा करेगी।
  • 4 साल बाद सेना से ड्यूटी मुक्त होने वाले 75 फीसदी ऐसे अग्निवीरों को 11.71 लाख रुपये की सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा।
  • इस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसके अलावा उनको मिले कौशल प्रमाणपत्र और बैंक लोन के जरिये उन्हें दूसरी नौकरी शुरू करने में मदद की जाएगी।

4 साल की नौकरी के दौरान वीरगति को प्राप्‍त हुए तो क्या होगा?

  • सभी अग्निवीरों का 48 लाख रुपये का नॉन-प्रीमियम इंश्‍योरेंस कवर होगा।
  • ड्यूटी के दौरान मृत्‍यु होने पर 44 लाख रुपये की अतिरिक्‍त अनुग्रह राशि मिलेगी।
  • इसके अलावा, परिवार को सेवा निधि सहित चार सालों तक सेवा न किए गए हिस्‍से का भी भुगतान भी किया जाएगा।

4 साल नौकरी के दौरान अग्निवीरज दिव्‍यांग हुए तो क्या होगा?

  • जितने प्रतिशत अक्षमता होगी, उसके आधार पर मुआवजा दिया जाएगा।
  • 100 फीसदी अक्षमता पर 44 लाख रुपये, 75 फीसदी अक्षमता पर 25 लाख रुपये और 50 फीसदी अक्षमता पर 15 लाख रुपये दिए जाएंगे।

4 साल नौकरी पूरी होने के बाद युवाओं का क्या होगा?

  • चार साल के बाद नौजवानों को केंद्र और राज्य सरकार रोजगार में प्राथमिकता प्रदान करेंगी। इन्हें सीएपीएफ और असम राइफल्स में भर्ती के दौरान प्राथमिकता मिलेगी।
  • इसके अलावा यूपी सरकार, उत्तराखंड सरकार और एमपी सरकार ने अपनी अपनी पुलिस भर्तियों में इन युवाओं को प्राथमिकता देने की घोषणा की है।
  • हरियाणा सरकार ने कहा है कि वह इन 75 फीसदी अग्निवीरों को सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता देगी और 25 फीसदी को स्थायी नौकरी मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.