Cholesterol symptom in Hindi  : शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाने पर हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या हो जाती है जो शरीर के लिए सेहत से जुड़ी और भी दिक्कतें लेकर आती है। हाई कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol) से दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियां होती हैं। इसकू चलते यह बेहद जरूरी है कि समय रहते हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षणों (Symptoms) को पहचाना जाए। आइए जानें, शरीर पर दिखने वाले वे कौन से निशान या प्रभाव हैं जिन्हें हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण के रूप में पहचाना जा सकता है और उनका वक्त रहते पहचानकर इलाज कराया जा सकता है। परिवार के किसी और सदस्य में कहीं ये लक्षण तो नहीं हैं इस बात का भी ध्यान रखें।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण – High cholesterol symptom in Hindi

Cholesterol symptom in Hindi

मोटापा

शरीर के जरूरत से ज्यादा वजन बढ़ने पर कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का खतरा भी सिर पर मंडराता रहता है। अगर आपका वजन अचानक से बढ़ने लगा है तो आपको हाई कोलेस्ट्रॉल के लिए ब्लड टेस्ट (Blood Test) करा लेना चाहिए।

पैरों में दर्द 

कई बार पैरों में दर्द भी हाई कोलेस्ट्रॉल( Cholesterol symptom in Hindi ) का एक लक्षण हो सकता है। इसके साथ ही किसी काम को करते ही तुरंत थक जाना, मतली महसूस होना और शरीर के अलग-अलग हिस्सों में दर्द होना भी हाई कोलेस्ट्रॉल के चलते हो सकता है।

पीले चक्कते

त्वचा की ऊपरी परत पर पीले चकतते नजर आना भी हाई कोलेस्ट्रॉल का लक्षण हो सकता है। इस तरह के निशान दिखने पर सतर्क हो जाएं और चिकित्सक से संपर्क जरूर करें।

पसीना आना 

आमतौर पर सभी कों पसीना आता है, लेकिन जरूरत से ज्यादा पसीना आना हाई कोलेस्ट्रॉल का कारण हो सकता है। आपको ब्लड टेस्ट कराकर एक बार कोलेस्ट्रॉल की पहचान करा लेनी चाहिए।

त्वचा का रंग बदलना

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ जाने से त्वचा का रंग आसानी से बदलने लगता है। ऐसा होने पर आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

रात में क्रैम्प्स ( Cholesterol symptom in Hindi )

कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ जानें पर शरीर के निचले अंगों की धमनियों को नुकसान पहुंचता है। इस वजह से रात में सोते समय पैरों में तेज क्रैम्प्स जैसी समस्या भी होने लगती है।यह ज्यादातर एड़ी, फोरफुट या पैर की उंगलियों में होता हैं।

अल्सर जो जल्द ठीक नहीं होते है

ब्लड शुगर के बढ़ जाने पर अल्सर या भाव जल्द ठीक नहीं हो पाता हैं। लेकिन कभी-कभी शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ जाने पर भी इस तरह की समस्या होती है। इनको इग्नोर नहीं करना चाहिए। ऐसी स्थिति में आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क पकरना चाहिए।

पैर का ठंडा हो जाना

शरीर में जब कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ जाता है, तो पैर ठंडा होने लगता है। यदि गर्मी के दिनों में भी आपको ऐसा महसूस हो रहा है, तो आपको इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। आपको तुरंत किसी डॉक्टर से दिखाना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर बरतें ये सावधानियां – Cholesterol symptom in Hindi

  • शरीर में कॉलेस्ट्रोल की मात्रा ना बढ़े इसके लिए कुछ सावधानियां बरतनी बेहद जरूरी हैं।
  • धूम्रपान की आदत छोड़ दें। यह दिल की बीमारियों और स्ट्रोक (Stroke) के खतरे को बढ़ाता है।
  • उन चीजों का सेवन करें जिनमें प्राकृतिक रूप से फैट की मात्रा कम हो।
  • सैचुरैटेड फैट की अत्यधिक मात्रा वाले फूड्स से परहेज करें।
  • रोजाना एक्सरसाइज करना भी सेहत के लिए अच्छा है।

इसे भी पढ़ें: Uses for amla powder | आंवला चूर्ण खाने से आंख, बाल, डायबिटीज और चमकदार त्वचा पाने जैसे 10 अद्भुत फायदे

कोलेस्ट्रॉल को बिना किसी दवाई के 3 दिन में जड़ से करें खत्म , जानिए कोलेस्ट्रोल बढ़ने का मुख्य कारण

Kidney stone pain : बार-बार पेट में दर्द होने के साथ ये 8 लक्षण दिखें तो समझ लें कि किडनी में हो गई है पथरी

bacho ka motapa kaise kam kare | बच्चे का वजन मोम जैसे पिघल कर घट जाएगा , बस रोजाना अपनाएं इन जरूरी टिप्स को

FAQ:

Q: कोलेस्ट्रोल क्या है?

Ans: कोलेस्ट्रॉल एक मोम जैसा पदार्थ होता है, जो रक्त के अंदर पाया जाता है। शरीर को इसकी जरूरत कोशिकाओं को स्वस्थ रखने और नई कोशिकाओं के निर्माण के लिए भी होती है। लेकिन जब कोलेस्ट्रॉल (cholesterol ) का स्तर बढ़ जाता है तो यह हार्ट डिजीज (Heart Disease) की वजह बन जाता है।

Q: कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या ना खाएं?

Ans: चीनी, मैदा, कोल्ड ड्रिंक्स और तेल से बनी चीजों को खाने से कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का सबसे ज्यादा खतरा होता है। इसलिए इन चीजों से परहेज करें।

Q: क्या चाय पीने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है?
Ans: बड़ों और बच्चों का चाय, कॉफी, जैसी चीजों का सेवन करने से हाई कोलेस्ट्रॉल का रिस्क बढ़ा देता है।
Q: शरीर में कोलेस्ट्रॉल क्यों बढ़ता है?
Ans: जब शरीर में ज़रूरत से ज्यादा कोलेस्ट्रॉल स्टोर हो जाता है यह खून ले जाने वाली नलियों के पास जमने लगता है जिससे ये छोटी होने लगती हैं। बहुत अधिक मात्रा में ऐसा भोजन लेने से जिसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो, शरीर में एलडीएल (बुरा कोलेस्ट्रॉल) बढ़ने लगता है। इसे हाई कोलेस्ट्रॉल कहते हैं।
Q: कोलेस्ट्रॉल कितना होना चाहिए?
Ans: बॉडी में टोटल कोलेस्ट्रॉल लेवल 200 mg/dl से कम होना ठीक रहता है। एलडीएल यानी बैड कोलेस्ट्रॉल 100 mg/dl से कम, एचडीएल यानि गुड कोलेस्ट्रॉल 60 mg/dl से ज्यादा और ट्राइग्लिसराइड 150 mg/dl से कम होना बेहतर है।

Disclaimer: यह सूचना सिर्फ सामान्य जानकारियों पर आधारित है। फास्ट खबरें किसी भी तरह की मान्यता या जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी को अपनाने से पहले इससे संबंधित किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.